गया का गजराज बना यमराज ! नवादा में दो दिनों के भीतर 6 लोगों को कुचला, 4 की हो चुकी मौत, अब भी नहीं पकड़ा जा सका

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : गया से नवादा पहुंचा एक हाथी यमराज बन खेतों में दौड़ रहा है. नवादा जिले के नारदीगंज, हिसुआ, एकनार, अरियन समेत कई गांवों में पागल हाथी ने तांडव आज भी जारी है. सिरदला वन विभाग के आदेश पर सभी थाने अलर्ट पर हैं. लेकिन, हाथी को पकड़ने में अभी तक किसी को सफलता नहीं मिली है. पागल हाथी अब तक 6 लोगों को कुचल चुका है. इनमें 4 की मौत हो चुकी है. वहीं, दो लोग अस्पताल में भर्ती हैं. आसपास के क्षेत्रों में हाथी के तांडव से लोग काफी डरे हुए हैं. बुधवार से ही हाथी का प्रकोप क्षेत्र में है.

देखें वीडियो, DIG मनु महाराज का नहीं उठाया फोन तो SHO को मिली ऐसा सजा, जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान….
हाथी जहां से भी गुजरा, लोगों में दहशत का था माहौल

ग्रामीणों ने बताया कि हाथी बिलकुल उत्पाती बना हुआ है. लोगों ने उसे तेजी से खेतों की और भागते हुए देखा था. हाथी बढ़ते-बढ़ते अरियन, एकनार गांव के खेतों से चलते हुए बलियारी गांव तक पहुंच गया. फिर नंदलाल बिगहा गांव होते हुए धनवां, मनवां और नरहट के भीम बिगहा और फिर मेसकौर प्रखंड के सीतामढ़ी तक हाथी पहुंच गया. लोग उसे देखकर भाग रहे हैं. लोग फोटो लेने और रिकार्डिंग करने में लगे हैं. सिरदला वन विभाग ने हाथी को लेकर सभी थानों को भी अलर्ट किया था. लेकिन, अभी तक उन्हें हाथी को पकड़ने में सफलता नहीं मिली है. जहां-जहां से हाथी गुजरा वहां खौफ और दहशत का माहौल बना रहा. लोग आसपास के गांवों के लोगों को आगाह करते रहे.

ये हो चुके हैं पागल हाथी के शिकार

अरियन, एकनार गांव के खेतों से चलते हुए बलियारी गांव, मेसकौर के हसनचक गांव निवासी बालेश्वर यादव को हाथी ने कुचल दिया. जिससे उनकी मौत हो गयी. वह प्याज के खेत में काम कर रहे थे. वहीं, नारदीगंज के कोसला के एक वृद्ध और धनवां गांव निवासी सत्यनारायण सिंह के बेटे जीवन कुमार को भी हाथी ने बुरी तरह से जख्मी कर दिया. इसके अलावा मेसकौर के सीतामढ़ी के लछुबिगहा गांव में एक किशोर को पटक कर जख्मी कर दिया. जख्मी किशोर ने अस्पताल में दम तोड़ दिया. वहीं, गुरुवार की सुबह शौच के लिए जा रहे आनंदी सिंह को सूंड़ में लपेटकर फेंक दिया. बाद में सीने पर पैर रखकर कुचल दिया. उनकी भी मौके पर मौत हो गयी थी.