पप्‍पू बोले : 5 नहीं 50 करोड़ की ‘सुपारी’ जमा कर लें फर्जी अस्‍पताल-डाक्‍टर, बचेंगे नहीं

सांसद पप्पू यादव का फाइल फोटो

लाइव सिटीज, पटना : फर्जी अस्‍पतालों – डाक्‍टरों के खिलाफ आंदोलन कर रहे जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय संरक्षक व मधेपुरा के सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने आज बुधवार 13 दिसंबर को पटना में प्रेस कांफ्रेंस कर नये खुलासे किए. उन्‍होंने कहा कि मरीजों को लूटने-मारने वाले इकट्ठा हो रहे हैं. मुझे जेल भिजवाने और आंदोलन का मर्डर करने के लिए ‘सुपारी टैक्‍स’ जमा कर रहे हैं. 5 करोड़ जमा कर लिया गया है . कोई एक हजार फर्जी अस्‍पतालों से 50 करोड़ तक की वसूली का टारगेट आपस में निर्धारित किया गया है.

बकौल पप्‍पू ‘सुपारी टैक्‍स’ जमा कर रहे गंदे धंधे के लोग कह रहे हैं कि इन रुपयों से मुझे जेल भेजने को पुलिस-प्रशासन को खरीदेंगे. फर्जी मुकदमे कराये जायेंगे. शुरुआत पटना के कंकड़बाग थाना से कराई गई है. इन रुपयों से गुंडे-बाउंसर रखे जायेंगे, ताकि जब कोई मरीज और अटेंडेंट शिकायत करे, तो उसे मारा-पीटा जाए.



पप्‍पू यादव बोले, लेकिन इन्‍हें पता नहीं है कि मैं इन ‘सुपारी टैक्‍स’ के कलेक्‍टरों से डरता नहीं. परेशान लोगों को निजात दिलाने के लिए सौ बार जेल जाना होगा, तो जरुर जायेंगे. पर इन्‍हें छोड़ेंगे नहीं. बिहार के लोगों का बड़े स्‍तर पर आंदोलन को समर्थन मिलने का वायदा भी पप्‍पू ने किया.

pappu-pc-1311
पटना में प्रेस कांफ्रेंस करते सांसद पप्पू यादव

नीतीश कुमार से पप्‍पू यादव

सांसद ने कहा कि वे मुख्‍य मंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिख रहे हैं. अनुरोध यह कि फर्जी अस्‍पतालों-डाक्‍टरों के पक्ष में खड़े होने वाले किसी भी संगठन से मिलने के पहले वे मुझसे मुलाकात करें.

पप्‍पू ने कहा, वे इन अस्‍पतालों के कारण परेशान भुक्‍तभोगियों को लेकर नीतीश कुमार के पास जायेंगे. सभी की तकलीफ मुख्‍य मंत्री सुन लें, फिर फैसला करें. एमसीआई और सुप्रीम कोर्ट के गाइडलाइंस को सभी प्राइवेट अस्‍पतालों को मानना होगा.

सुशील कुमार मोदी से पप्‍पू यादव

पप्‍पू यादव ने कहा कि जिन अस्‍पतालों के पास जरुरी सरकारी लाइसेंस नहीं हैं, उन्‍हें तुरंत बंद कराने की पहल सुशील कुमार मोदी क्‍यों नहीं करते हैं. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय तो भाजपा कोटे से ही हैं. उन्‍होंने कहा कि लालू प्रसाद के मॉल का निर्माण कार्य आपने पर्यावरण का लाइसेंस न मिलने के कारण बंद कराया था, तो फिर अस्‍पताल कैसे बच रहे हैं.

उन्‍होंने कहा कि आज वे जदयू प्रवक्‍ता अजय आलोक के पटना स्थित उदयन हॉस्पिटल में गये थे. पूरी बातचीत की वीडियोग्राफी कराई गई है. इसमें स्‍पष्‍ट है कि उदयन हॉस्पिटल ने भी कई जरुरी लाइसेंस नहीं ले रखे हैं.

सहजानंद प्रसाद सिंह से पूछा पप्‍पू ने

जाप सांसद ने आईएमए के नेता डा. सहजानंद प्रसाद सिंह से भी सवाल पूछा है. उन्‍होंने कहा कि वे सस्‍ते में आपरेशन करते हैं, इसलिए बधाई के पात्र हैं. मैंने किसी वाजिब डाक्‍टर और अस्‍पताल को छेड़ा भी नहीं है. लेकिन डा. सिंह इसलिए माफी के काबिल नहीं हैं, क्‍योंकि वे फर्जी अस्‍पतालों-डाक्‍टरों के साथ खड़े हो जा रहे हैं.

पप्‍पू ने कहा कि आईएमए डाक्‍टरों की संस्‍था है, फिर यह गंदे धंधे के खिलाडि़यों को बचाने को आगे क्‍यों आ रही है. जब ये लड़ेंगे गंदे के पक्ष में, तो हम लड़ेंगे आम आदमी के पक्ष में. अंजाम की कोई फिक्र नहीं है मुझे.

अस्पताल-डॉक्टर से परेशान हैं तो पप्पू यादव को करें फ़ोन, शैम्पू लगाकर होगी धुलाई 
पप्पू ने कहा – अब बिहार में होगी फर्जी-लुटेरे डॉक्टरों की ‘जनठुकाई’, साथ में कालिख भी पोतेंगे

शिवा हॉस्पिटल, कंकड़बाग

मधेपुरा सांसद ने कहा कि शिवा हॉस्पिटल, कंकड़बाग को वे किसी कीमत पर नहीं छोड़ने जा रहे. जबरिया वसूली के लिए बंधक बनाई गई महिला को छुड़ाने के लिए जो कुछ उन्‍होंने किया, सब वीडियो में कैद है. हाई कोर्ट में बतायेंगे पूरे खेल को. स्‍थानीय पुलिस के बिक जाने से कुछ नहीं होगा. वीडियो और मीडिया के साथी गवाह हैं कि सब कुछ सही हुआ था. कार्रवाई में तब पुलिस का भी सहयोग मिला था.

पप्‍पू यादव ने कहा कि शिवा हॉस्पिटल को बताना होगा कि जब उनके यहां महिला रोग विशेषज्ञ नहीं थी, तो फिर महिला का इलाज कैसे चल रहा था. 98-99 डिग्री में कोई मरीज रोज 25-30 हजार की दवा खाता है क्‍या. फिर मरीज जब आईसीयू में भर्ती हो गया, तो अस्‍पताल आईसीयू के चार्ज के अलावा दूसरे कई तरीकों के फालतू किस्‍म के चार्ज को कैसे वसूल सकता है.