पप्पू ने कहा – अब बिहार में होगी फर्जी-लुटेरे डॉक्टरों की ‘जनठुकाई’, साथ में कालिख भी पोतेंगे

PAPPU-PC13

पटना : जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय संरक्षक व मधेपुरा के सांसद राजेश रंजन उर्फ़ पप्पू यादव फर्जी-लुटेरे डॉक्टरों/अस्पतालों के खिलाफ लड़ाई को और आगे ले जाने को तैयार हैं. पप्पू ने रविवार को ही पटना के शिवा अस्पताल में बंधक बनाई गई मरीज को छुड़ाया था और हॉस्पिटल की पूरी पोल-पट्टी खोल दी थी. सांसद ने आज सोमवार 11 दिसंबर को पटना में मीडिया से कहा कि वक़्त आ गया है कि फर्जी लुटेरे डॉक्टरों/अस्पतालों की जनठुकाई हो. कालिख भी पोतेंगे. लेकिन इसके साथ ही जो सच्चे मन से मरीजों की सेवा करते हैं, उनका सम्मान भी करेंगे.

सांसद पप्पू यादव के खिलाफ शिवा हॉस्पिटल की ओर से भी आज पटना में प्रेस कांफ्रेंस कर गुंडागर्दी का आरोप लगाया गया था. पुलिस में रिपोर्ट भी दर्ज हुई है. अस्पताल के साथ डॉक्टरों के कई नेता साथ खड़े हुए हैं. पर, इन सबों को धत्ता बताते हुए पप्पू ने कहा कि मरीजों को लुटने से बचाना गुंडागर्दी है, तो है. हम मरीजों के साथ खड़े रहेंगे. जहां से शिकायत आएगी, वहां पहुंचेंगे. गुंडों की ताकत है, तो मुझे मार दें. पप्पू जब प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे, तभी मीडिया के एक बंधु ने उन्हें बताया कि पटना के एक दूसरे अस्पताल ने ‘आज’, पटना के संपादक दीपक पांडेय के परिचित से गलत इलाज कर 6 लाख रूपये ऐंठ लिए हैं. सांसद ने कहा कि वे इस मामले का संज्ञान लेते हैं.



हां, तब गोली मार देंगे पप्पू यादव

पप्पू यादव से जब यह पूछा गया कि वे शासन-प्रशासन का काम क्यों खुद करने लगे हैं, तो उन्होंने कहा कि व्यवस्था मर गई है, ऐसे में परेशान लोग मेरे पास आते हैं. मैं चुप कैसे रह सकता हूं. जनता का प्रतिनिधि हूं, जनता के लिए लड़ेंगे ही. उन्होंने कहा कि अस्पताल कई दूसरे तरीकों के गंदे धंधे में भी लगे हैं.

सांसद बोले – मेरे लिए यह बस की बात नहीं कि कोई मेरे सामने मेरे बहन को छेड़े और मैं पुलिस कंट्रोल रूम में फ़ोन कर पुलिस के आने की प्रतीक्षा करता रहूं. कोई अस्मत लूटे, इसके पहले गुंडे को गोली मार दूंगा. इस गोली मारने के कारण IPC में अपराध बनता है तो बने, कोई फ़िक्र नहीं.

फर्जी अस्पतालों को बंद क्यों नहीं कराते मोदी

पप्पू ने कहा कि पर्यावरण का लाइसेंस न होने के कारण सुशील कुमार मोदी ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बेली रोड पर बनने वाले बिहार के सबसे बड़े मॉल के निर्माण कार्य को बंद कराया. तो फिर मेरा यह सवाल उनसे जरुर है कि पटना ही नहीं, पूरे बिहार में जब बड़ी संख्या में अस्पताल गलत तरीके से बिना कई तरीकों के लाइसेंस के चल रहे हैं, तो इन्हें बंद क्यों नहीं कराया जाता. लूट का लाइसेंस इन अस्पतालों को कैसे मिला हुआ है और इसके हिस्से कहां-कहां पहुँच रहे हैं.

6 जनवरी को होगा बिहार बंद

पप्पू ने कहा कि जाप ने 16 दिसंबर का बिहार बंद का आन्दोलन अभी स्थगित किया है. अब 6 जनवरी को बिहार बंद होगा. 23 मार्च को गांधी मैदान में बिहार के नियोजित शिक्षकों और संविदा स्वास्थ्य कर्मियों के साथ बड़ा मार्च होगा. जनता नारा बुलंद करेगी – बहुत हो चुका, अब नहीं सहेंगे अत्याचार.

भ्रष्टाचार-अपराध के खिलाफ पप्पू ने किया रेल चक्का जाम, 16 को बिहार बंद

फिर बंधक मरीज को मुक्‍त कराया पप्‍पू यादव ने, हर दिन जोड़ रहा था 1 लाख का बिल