मदरसा के शिक्षक पटना में पिट कर लौटे थे, हमने आपको सम्मान दिया- नीतीश कुमार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार के मुखिया नीतीश कुमार चुनावी सभा को लेकर अररिया पहुंचे. यहां उन्होंने अररिया विधानसभा क्षेत्र से महिला प्रत्याशी शगुफ्ता अजीम के लिए वोट मांगा. साथ ही राज्य में फिर से एनडीए की सरकार बनाने की अपील की. मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में कितना काम किया. केंद्र सरकार का भी सहयोग मिल रहा है. उन्होंने कहा कि हमने अल्पसंख्यक समुदाय के लिए भी काम किया.

सीएम ने कहा कि अल्पसंख्यक समुदाय के महिलाओं को हमने कितना प्रशिक्षण दिया. ताकि वो काम कर सके. उन्होंने कहा कि 1 लाख 22 हजार महिलाओं ने प्रशिक्षण लेकर काम किया. ताकि वो आगे आराम से काम कर सके. उन्होंने कहा कि हमने किसकी उपेक्षा की. बिहार के सीएम ने कहा कि पहले मदरसा वाले शिक्षक को क्या मिलता था? उन्होंने कहा कि जब हमारी सरकार नहीं थी तब संस्कृत और मदरसा वाले शिक्षक पटना गए थे अपनी मांग करने. लेकिन क्या हुआ, पिट कर भगा दिए गया था आपलोगों को. सीएम ने कहा कि कुछ नहीं मिला था.



लेकिन जबसे आपलोगों ने हमें काम करने का मौका दिया तबसे आपलोगों के लिए ही काम किया है. उन्होंने कहा कि हमने आपलोगों को कितना दिया, आप अच्छे से जानते हैं. उन्होंने कहा कि जो बिहार में सरकारी शिक्षकों को मिलता है, ठीक उतना ही हमने मदरसा के शिक्षकों को देना शुरू किया. सीएम ने ये बी कहा कि बिहार में हमने किसी भी चीज की उपेक्षा नहीं की. हर काम तो हमने कर दिया.

नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में हमने सारा काम किया है. उन्होंने कहा कि गांव में बिजली दी. आज लोग पहले से ज्यादा आराम की जिन्दगी जी रहे हैं. इसके अलावा हमने लोगों के घरों में पानी पहुंचाया. साथ ही नली-गली और अन्य कार्यों में जुट गया. हमने किसी भी काम को हमने छोड़ा. सीएम ने कहा कि बिहार में पहले क्या था, आपसे कुछ नहीं छिपा है, उसी के आधार पर वोट दीजिएगा.