पीएम मोदी के भाषण के बाद महागठबंधन का पलटवार,कहा- छठ के बाद कैसे दूर होगी बिहार की भुखमरी?

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार में आज जनसभा की. एक सभा में उन्होंने कहा कि बिहार की जनता को छठ तक फ्री में राशन दिया जाएगा. इसके बाद से उनके इस बयान पर पलटवार होना शुरू हो गया. महागठबंधन की ओर से पीएम मोदी पर लगातार निशाना साधा गया. आज राजद से राज्यसभा सांसद मनोज झा, कांग्रेस के नेता और प्रवक्ता पवन खेड़ा ने प्रेस कॉफ्रेंस किया. इस दौरान मनोज झा ने कहा कि पीएम मोदी ने आज बहुत ही अच्छा भाषण दिया. लेकिन उन्होंने कई बुनियादी मुद्दों पर बात नहीं की.

मनोज झा ने कहा कि प्रधानमंत्री छठ तक तो मुप्त में बिहार वासियों को राशन देेंगे. लेकिन उसके बाद बिहार की भुखमरी को कौन दूर करेगा? उन्होंने आगे कहा कि बिहार की भुखमरी से पीएम वंचित हैं. राज्य में बेरोजगारी कितनी है, शायद उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है इसलिए उन्होंने अपने भाषण में रोजगार के मुद्दे पर बात नहीं की. राजद प्रवक्ता ने कहा कि नीति आयोग ने एक रिपोर्ट में कहा कि था कि देश के पिछड़ेपन का कारण बिहार और बिहारवासी है. उन्होंने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा कि जिस जननायक कर्पूरी ठाकुर की ये लोग बात कर रहे हैं, शायद वे भूल गए हैं कि उनकी सरकार गिराने में किसका हाथ रहा है.



प्रेस वार्ता में मीडिया से बात करते हुए मनोज झा ने कहा कि पीएम ने अपने भाषण में संविदा नौकरी, बेरोजगारी, सामान काम सामान वेतन आदि मुद्दों पर ध्यान नहीं देते हैं. उन्होंने कहा कि ऐसा है कि अब बिहार की जनता सब जान चुकी है कि उन्हें रोजगार चाहिए या फिर नए-नए वादे चाहिए. मनोज झा ने कहा कि जब महागठबंधन की सरकार बनेगी तो सीएम तेजस्वी यादव होंगे. उसके बाद हमारी पार्टी विशेष राज्य के दर्जे की मांग करेगी. विशेष राज्य का दर्जा बिहार का हक है. अगर केंद्र सरकार विशेष राज्य का दर्जा नहीं देती है तो हम अनशन पर जाने से भी नहीं चूकेंगे.

राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा कि पीएम मोदी ने चीनी मिल पर एक शब्द नहीं बोला. लोकसभा के दौरान उन्होने कहा कि चीनी मिल चालू होगा और यहीं के चीनी से चाय पीया जाएगा. लेकिन इन मुद्दों पर वे बोलने से क्यों बचते रहे?