बड़ी खबर : कांग्रेस आये – न आये, 19 मार्च को पटना में सीटों का एलान कर देगा महागठबंधन

MAHA

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : लोकसभा चुनाव को लेकर महागठबंधन में सीटों की खींचतान आज सोमवार की देर रात तक भी जारी है. आज सोमवार 18 मार्च को पहले फेज के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई है. इस फेज में नामांकन 25 मार्च तक होगा. हालांकि अभी तक सिर्फ NDA की ओर से ही सीट बंटवारे की घोषणा हुई है. कैंडीडेट्स का एलान नहीं किया गया है. इधर महागठबंधन के समर्थक अभी भी घटक दलों के सीट क्लियर होने का इंतजार ही कर रहे हैं. लेकिन अब खबर आ रही है कि मंगलवार 19 मार्च को महागठबंधन में सीट बंटवारे का एलान हो सकता है… चाहे कांग्रेस रहे या ना रहे.

दरअसल, महागठबंधन में सीट शेयरिंग का पेंच फंसने की बड़ी वजह कांग्रेस ही है. खबर यही थी कि कांग्रेस 11 सीटों पर चुनाव लड़ना चाह रही है, जबकि राजद उसे आठ से ज्यादा सीटें देने को राजी नहीं है. लेकिन अब अंदरखाने इसपर भी खींचतान थमती नजर आ रही है. अभी खबर लिखे जाने तक तेजस्वी यादव दिल्ली में डटे हुए हैं और लगातार कांग्रेस के बड़े नेताओं के साथ बैठक हो रही है.

लोकसभा चुनाव : बिहार में पहले फेज का नामांकन शुरू, पहले दिन दाखिल हुआ एक पर्चा

लाइव सिटीज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के अनुसार महागठबंधन के नेता मंगलवार 19 मार्च को पटना में सीटों का एलान कर देंगे. यह एलान दोपहर 2:00 बजे के करीब पटना के होटल मौर्या में किए जाने की सूचना है. उस वक्त तक तेजस्वी यादव भी पटना पहुंच जाएंगे. एलान के वक्त तेजस्वी यादव, उपेंद्र कुशवाहा, जीतन राम मांझी समेत अन्य सहयोगी नेता मौजूद रहेंगे. कांग्रेस के बारे में अभी कुछ भी क्लियर नहीं है.

कांग्रेस के लिए सीटें छोड़ होगी प्रेस कांफ्रेंस

लाइव सिटीज को विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अगर मंगलवार तक कांग्रेस से कुछ समझौता हो गया तो ही सीटों के एलान में पार्टी के नेता शामिल होंगे. अन्यथा कांग्रेस के लिए एक तय संख्या में सीटें छोड़कर महागठबंधन में पहले और दूसरे चरण के लिए सीट बंटवारे की स्थिति क्लियर कर दी जायेगी. ध्यान रहे, कैंडीडेट्स अनाउंसमेंट की अभी कोई सूचना नहीं है.

बताया जा रहा है कि कांग्रेसी नेताओं से तेजस्वी यादव की माथापच्ची के बाद एक बीच का रास्ता निकाला गया है. इसके अनुसार राजद 18 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है, जबकि कांग्रेस को 9 सीटें दी जाएंगी. राजद और कांग्रेस के बाद सबसे ज्यादा चार सीटें रालोसपा के खाते में आने की सूचना है. उसके बाद बचे 9 सीटों में जीतन राम मांझी, शरद यादव की लोकतांत्रिक जनता दल, मुकेश साहनी और वामदलों को भी शामिल किया जाएगा.

क्यों है मजबूरी?

बता दें कि मंगलवार को ही सीटों का एलान करना महागठबंधन की मजबूरी भी है. वजह कि होली के कारण आगे अखबारों के दफ्तर भी बंद रहेंगे. इसलिए अगर सीटों की घोषणा देर से हुई तो राज्य के एक बड़े तबके, जो खबरों के लिए समाचारपत्र पर निर्भर हैं, उस तक यह जानकारी शनिवार को ही पहुंचेगी. टीवी मीडिया को छोड़ दें तो डिजिटल दुनिया से जुड़े लोगों को लाइव सिटीज ख़बरों और वीडियो के माध्यम से पल-पल अपडेट करता रहेगा.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*