मिथिलाचंल को एम्स की सौगात, पटना को जलजमाव से मिलेगी मुक्ति : मंगल पांडेय

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि मंगलवार का दिन बिहार के लिए उपलब्धियों से भरा रहा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तीसरे किस्त में बिहार को एक साथ कई सौगातें दी हैं, जो स्वास्थ्य और शहरी विकास से जुड़े हैं. प्रधानमंत्री ने एक ओर जहां जलापूर्ति व सीवर से जुड़ी 543.28 करोड़ की सात परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया.

वहीं, केंद्रीय कैबिनेट ने दरभंगा में 1264 करोड़ की लागत से बनने वाले बिहार के दूसरे एम्स की मंजूरी देकर बिहार को स्वास्थ्य और नगर विकास के क्षेत्र में मजबूती प्रदान की. उन्होंने इसके लिए माननीय प्रधानमंत्री और मंत्रिपरिषद के सदस्यों को साधुवाद देते हुए कहा कि एम्स, जलापूर्ति व सीवर से जुड़ी परियोजनाएं बिहार के विकास में वरदान साबित होगा.



 

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पिछले पांच दिनों के अंदर माननीय प्रधानमंत्री ने बिहार को करीब 30 अरब की चीरप्रतिक्षित परियोजनाओं का तोहफा देकर सूबे के विकास में एक नया आयाम जोड़ा है. प्रधानमंत्री और माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अथक प्रयास से बिहार हर क्षेत्र में प्रगति कर रहा है। स्वास्थ्य और शिक्षा के साथ-साथ कृषि और शहरी विकास के क्षेत्र में केंद्र और राज्य सरकार लगातार काम कर रही है.

दरभंगा में एम्स के खुल जाने से मिथिलांचल समेत कोसी और सीमांचल के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिए अन्यत्र भटकना नहीं होगा. एम्स के निर्माण लक्ष्य 48 महीने रखा गया है. वहीं राजधानी पटना में सीवरेज ट्रीटमेंट से जुड़ी दो परियोजनाओं के चालू हो जाने से राजधानी में जल जमाव से जहां निजात मिलेगा और बरसात के दिनों में लोग राहत महसूस करेंगे. वहीं अन्य जिलों में जलापूर्ति से जुड़ी योजनाओं के शुरू हो जाने से लोगों को निर्मल जल मिल सकेगा. इन परियोजनाओं को एक साथ मूर्त रूप देकर माननीय प्रधानमंत्री ने बिहार के लोगों में अहसास जगाया है कि केंद्र और राज्य की एनडीए सरकार सूबे के विकास के लिए संक्लपित है.