उम्मीद से ज्यादा : धनतेरस में 600 करोड़ की मार्केटिंग की पटना ने, ज्वेलरी खरीदे 180 करोड़ के

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : राजधानी पटना ने धनतेरस के मौके पर जमकर खरीदारी की है. आज पटनावासी बर्तन, आभूषण समेत अन्य सामानों की खरीददारी के लिए बाजार पहुंचे. राजधानी के लगभग सभी दुकानों ने अपने यहां खरीदारों की उमड़ती भीड़ को देखते हुए ख़ास इंतजाम किये हैं. शहर के इलेक्ट्रिक दुकान संचालकों ने भी कोई कोर कसर बाकी नहीं रखी है. रंग बिरंगे, झिलमिलाते तरह-तरह के बल्बों एवं झालरों का प्रदर्शन कर खरीददारों को लुभाने का प्रयास किया जा रहा है.

लाइव सिटीज को पटना के मार्केट में की गई खरीदारी के कुछ आंकड़े मिले हैं. बिहार के बड़े एडगुरु माने जाने वाले आशीष भट्टाचार्य ने बताया है कि इस साल पटना ने उम्मीद से ज्यादा पैसे खर्च किये हैं. माना जा रहा था कि मार्केट में मंदी है. इसलिए हो सकता है कि लोग ज्यादा खरीदारी करने न निकलें. लेकिन आज धनतेरस के दिन रात 8 बजे तक मिले आंकड़ों के अनुसार एक-दो सेगमेंट को छोड़ सभी तरह के मार्केट में खरीदारी पिछले साल के मुकाबले बढ़ी है.

उन्होंने बताया कि पटना में इस बार ज्वेलरी, टू व्हीलर्स, इलेक्ट्रॉनिक्स आदि सभी महत्वपूर्ण बाजार बढ़े हैं. इन तीनों सेक्टर में कुल कारोबार 400 करोड़ के आसपास होने की उम्मीद है. अलग-अलग बात करें तो  पटना के विभिन्न टूव्हीलर्स शोरूम से लगभग 50 करोड़ रुपए की  करीब 8000 यूनिट बिक्री हुई है. टूव्हीलर्स की बिक्री पिछले साल के मुकाबले 20-25 प्रतिशत तक बढ़ी है.

पटना में ज्वेलरी का कारोबार भी खूब हुआ है. इस मार्केट में 180 से 250 करोड़ तक की बिक्री होने की बात कही जा रही है. पूरे बिहार में इस सेगमेंट में 350 करोड़ से ज्यादा का कारोबार होने का अनुमान है.  इलेक्ट्रॉनिक्स का मार्केट बढ़कर इस बार 150 करोड़ के पार हो गया है. इसमें मोबाइल-स्मार्टफ़ोन और स्मार्टवाच की करीब 50 करोड़ रुपए की बिक्री हुई है.

पटना में इस बार फोरव्हीलर्स का कारोबार थोड़ा डाउन होने की बात कही गई है. आज सोमवार की रात तक मिले आंकड़ों के अनुसार पटना शहर के डीलर्स ने 1500 के करीब गाड़ियों की बुकिंग की है. जिनकी डिलीवरी या तो हो गई है, या कल तक हो जाएगी. यह संख्या पूरे बिहार में 3500 तक हो सकती है.

इसके साथ ही रियल एस्टेट के कारोबारियों को थोड़ी निराशा हुई है. इस फेस्टिव सीजन में पटना में यह कारोबार थोड़ा मंदा रहा है. एक्सपर्ट्स बताते हैं कि इसके पीछे कई वजहें हैं. उम्मीद है कि आने वाले दिनों में बिहार में यह सेक्टर भी बूम करेगा.

About Anjani Pandey 690 Articles
I write on Politics, Crime and everything else.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*