लालू यादव को जमानत मिलने पर अनंत सिंह बोले – बढ़िया हुआ, उन्हें फंसाया गया था

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को आज शुक्रवार को झारखंड हाईकोर्ट से जमानत मिल गयी है. यह जमानत उन्हें चारा घोटाले से जुड़े देवघर कोषागार के मामले में मिली है. लालू को जमानत मिलने के बाद उनपर राजनीतिक प्रतिक्रियाओं का दौर जारी है. बाहुबली विधायक अनंत सिंह ने भी उनके जमानत मिलने को ‘बढ़िया’ कहा है. उन्होंने कहा कि न्यायालय ने यह सही फैसला दिया है. उन्होंने यह भी कहा कि लालू यादव को फंसाया गया था. बिहार विधानसभा से निकलने के बाद मीडियाकर्मियों के सवाल के जवाब में उन्होंने यह बात कही.

इससे पहले आज लालू यादव की जमानत की खबर जैसे ही बिहार विधानसभा में पहुंची, राजद नेताओं ने ख़ुशी का इजहार किया. विधानसभा में राजद नेताओं ने एकदूसरे को मिठाइयां खिलाकर ख़ुशी जताई. हालांकि सिर्फ एक ही मामले में जमानत मिलने से लालू अभी जेल के बाहर नहीं आयेंगे, लेकिन फिर भी राजद समर्थक उत्साहित हैं.

लालू यादव के बेल पर तेजप्रताप ने कहा – सत्य परेशान हो सकता है पराजित नहीं

कई राजद समर्थकों ने लाइव सिटीज से अपनी ख़ुशी जाहिर की. हाजीपुर से आए केदार यादव ने कहा कि लालू यादव गरीबों के मसीहा हैं. हम लोगों को न्यायपालिका में पूरा विश्वास है. मैं खुद हनुमान जी से बेल के लिए प्रार्थना किया था, भगवान ने मेरी प्रार्थना सुन ली, आने वाले समय में अन्य मामलों में भी इन्हें जमानत मिल जाएगी. वहीं रंजन यादव ने न्यायपालिका पर आस्था जताते हुए कहा कि हम लोगों को पूरा विश्वास था कि लालू यादव को न्याय जरूर मिलेगा. आनेवाले वाले समय में बाकी बचे सभी मामले में लालू यादव बाइज्जत बरी हो जाएंगे.

इससे पहले 5 जुलाई को सुनवाई हुई थी. उस सुनवाई के दौरान सीबीआई ने कोर्ट में दलील पेश की थी. जिसके एवज में आज 12 जुलाई को डिफेंस के वकीलों ने अपनी तरफ से दलीलें रखी. इसके साथ ही साथ सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट की कॉपी भी जस्टिस एके सिंह ने मंगवाई थी. इन सभी बिंदुओं पर सुनवाई होने के बाद लालू प्रसाद यादव को झारखंड हाई कोर्ट में बेल दे दिया.

फिलहाल जेल से बाहर नहीं आ सकते लालू प्रसाद

झारखंड हाईकोर्ट से लालू प्रसाद यादव को बेल मिलने के बाद उनको बड़ी राहत मिली है. लेकिन लालू प्रसाद फिलहाल जेल से बाहर नहीं आ सकते हैं. दुमका और चाईबासा मामले में जमानत नहीं मिली है. इसलिए लालू को फिलहाल जेल में ही रहना होगा. दुमका और चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में उनके लिए आगे की राह आसान हो गई है. उम्मीद की जा रही है कि लालू प्रसाद यादव को दुमका और चाईबासा मामले में भी बेल मिल जाएगी. बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले भी लालू ने जमानत के लिए याचिका दाखिल की थी. लेकिन कोर्ट ने खारिज कर दिया था.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*