मैट्रिक परीक्षा : जूता-मोजा नहीं लेकिन मोटिवेश्नल पोस्टर जरूर चिपकाए गए परीक्षा केंद्रों के बाहर

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : आज से बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा शुरू हो चुकी है. परीक्षा में बिहार के लगभग 16.60 लाख परीक्षार्थीयों ने भाग लिया है. इस बार परीक्षार्थीयों के लिए कुल 1418 परीक्षा केंद्र बनाये गए है. मैट्रिक परीक्षा के दौरान सभी परीक्षा केन्द्रों पर धारा 144 भी लगाया गया है. यह परीक्षा दो पालियों में होगी. परीक्षा में जूते और मोजे पहन कर नहीं आने का आदेश भी दिया गया हैं.  लेकिन, इस बार की परीक्षा में एक खास चीज देखने को मिल रहा है. पटना के बांकीपुर में एक परीक्षा केंद्र पर मोटिवेशनल पोस्टर भी लगाया गया है.

पटना के बांकीपुर में एक परीक्षा केंद्र के बाहर एक अलग सी तस्वीर दिखाई दी. छात्रों की क्रमांक संख्या का पोस्टर जहाँ लगाए गए हैं उसी के बगल में कुछ मोटिवेशन के भी पोस्टर चिपकाए गए. स्कूल प्रशासन की तरफ पोस्टर में लिखा गया है ‘जहां शक्ति है, वहीं राह है’. कुल मिलाकर के छात्रों को बूस्ट-अप करने की भरपूर कोशिश स्कूल प्रशासन की तरफ से की जा रही है.



इस बार की मैट्रिक परीक्षा क्यूँ हैं खास ?

वर्ष 2019 में आयोजित होने वाली मैट्रिक परीक्षा में लगभग 16.60 लाख परीक्षार्थीयों ने भाग लिया है. इसके लिए 1418 परीक्षा केंद्र बनाये गए है. जबकि पिछले साल मैट्रिक परीक्षा में लिए लगभग 13 लाख परीक्षार्थीयों ने भाग लिया था वही परीक्षा केन्द्रों की संख्या 1339 थी. इस साल परीक्षार्थीयों संख्या में लगभग 3.5 लाख की बढ़ोतरी हुई हैं.

परीक्षा केन्द्रों पर लगाया गया धारा 144

मैट्रिक परीक्षा के दौरान सभी परीक्षा केन्द्रों पर धारा 144 लगाया गया है. धारा 144 लगाने का उदेश्य परीक्षा केन्द्रों पर धांधली रोकने और सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखना हैं. BSEB की ओर से सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था की गई है. इसके लिए परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्रों पर समय से 10 मिनट पहले पहुंचे का निर्देश भी दिया गया है. पिछले साल BSEB की ओर से सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था के बाबजूद गोपालगंज से 42 हजार कॉपियां चोरी हो गई थी.