मुजफ्फरपुर: मानवता फिर शर्मसार, कंधे पर बच्चे का शव लेकर भटकते रहे चाचा

लाइव सिटीज ,सेन्ट्रल डेस्क: बिहार के मुजफ्फरपुर में एक बार फिर मानवता शर्मसार हुई है. एक मृत बच्चे को कंधे पर लेकर उसके चाचा घंटो इधर उधर भटकते रहे, एम्बुलेंस व शव वाहन के लिए पीएचसी में गिड़गिड़ाते रहे, परन्तु  स्‍वास्‍थ्‍य विभाग में कार्यरत किसी भी अधिकारी या कर्मी ने उनकी बात नहीं सुनी. स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही को देख मृतक का चाचा परेशान रहा और कंधे पर ही अपने भतीजे की शव को लेकर दौड़भाग करता रहा है.

मामला मुजफ्फरपुर का है, जहां साहेबगंज थाना क्षेत्र के मकड़ी टोला में बुखार से राजेश पटेल के 10 वर्षीय बेटे अभिषेक कुमार की मौत हो गई,  जब उसे  लेकर परिजन पीएचसी पहुंचे तो डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. इसके बाद चाचा राकेश पटेल शव को कंधे पर लेकर पीएचसी में भटकते रहे, स्वास्थ्यकर्मियों से विनती करते रहे, लेकिन किसी ने उनकी नहीं सुनी. उन्हें शव लेकर जाने के लिए एंबुलेंस या शव वाहन नहीं उपलब्ध कराया गया. हालांकि भारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. जीके गौतम  को जब इस बात की जानकारी मिली तब उन्होंने एम्बुलेंस उपलब्ध करवाई, तब जाकर शव को घर पहुंचाया जा सका.

मिली जानकारी के अनुसार मुजफ्फरपुर के साहेबगंज निवासी राजेश पटेल के 10 वर्षीय बेटे अभिषेक कुमार को सुबह में तेज बुखार आया, उसके बाद उसके हाथ-पैर अकड़ गए और चेहरे की आकृति बदलने लगी. बच्चे की हालत को देखकर परिजन सहम गए. फिर उसे आनन फानन में निजी क्लिनिक में डॉक्टर से जांच कराया. स्थिति बिगड़ने के बाद उसे  पीएचसी रेफर कर दिया गया, वहां  डॉक्टरों ने परिक्षण के बाद उसे मृत घोषित कर दिया. इसके बाद जब परिजन एंबुलेंस या शव वाहन को उपलब्‍ध कराने के लिए  गिड़गिड़ाते रहे. काफी भटकने के बाद शव को घर ले जाने के लिए एंबुलेंस उपलब्‍ध कराई गई.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*