बिहार में दूसरे राज्यों की मछली बिक्री बंद करने का फैसला मछुआरा विरोधी : मुकेश सहनी

मुकेश सहनी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार सरकार द्वारा आंध्र प्रदेश और बंगाल की मछलियों पर रोक लगाने के विरोध में विकासशील इंसान पार्टी द्वारा पटना के गर्दनीबाग में एक दिवसीय धरना दिया गया. प्रदर्शन में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सन ऑफ़ मल्लाह मुकेश सहनी भी शामिल हुए. वीआईपी पार्टी के साथ धरना में पटना तथा आसपास के मछली व्यवसायी भी बड़ी संख्या में शामिल हुए.

इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में सन ऑफ़ मल्लाह ने कहा कि सरकार को आंध्र प्रदेश की मछली से अतिशीघ्र रोक हटाना चाहिए. उन्होंने कहा कि बिहार में दुसरे राज्यों की मछली बिक्री बंद करने का सरकार का यह फैसला निषाद तथा मछुआरा विरोधी है. बिहार के प्रत्येक हिस्सों में पार्टी द्वारा इसका विरोध किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें – पूर्व मेयर हत्याकांड में हुई कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं परिजन, पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

सन ऑफ़ मल्लाह ने कहा कि विकासशील इंसान पार्टी द्वारा बिहार में मछली बिक्री पर प्रतिबंध के खिलाफ ज़ोरदार प्रदर्शन का असर है कि बिहार सरकार को झुकना पड़ा. वीआईपी के विरोध के कारण सरकार को बिहार की मछलियों की बिक्री पर प्रतिबंध हटाना पड़ा. यह विकासशील इंसान पार्टी तथा बिहार के मछुआरा समाज की बड़ी जीत है. साथ ही आंध्र प्रदेश से आने वाली मछलियों की बिक्री पर प्रतिबंध हटाने तक विकासशील इंसान पार्टी तथा निषाद विकास संघ का विरोध जारी रहेगा.

इस संबंध में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एक नौ-सूत्री मांगों का एक ज्ञापन भी सौंपा गया. ज्ञापन में आंध्र प्रदेश तथा दूसरे राज्यों की मछलियों की बिक्री पर प्रतिबंध हटाने के साथ सरकारी तथा गैर-सरकारी बैंकों से सभी तरह के बैंक ऋण अनुदान पर उपलब्ध कराने की मांग शामिल है. साथ ही जिला स्तर पर शीतगृह, सर्वसुविधा संपन्न मत्स्य मार्केट का निर्माण एवं मत्स्य व्यवसाय को मत्स्य उद्योग के रूप में विकसित करने की मांग के साथ-साथ मत्स्य विभाग का बजट जलक्षेत्र एवं जनसंख्या के अनुपात में बढ़ाने की मांग प्रमुखता से शामिल है.

यह भी पढ़ें – पूर्व एमपी उदय सिंह ने बीजेपी छोड़ने का किया एलान, कांग्रेस में जाने के दिए संकेत

VIP द्वारा मुख्यमंत्री को सौंपे गए ज्ञापन में खुदरा मछली विक्रेताओं को सुरक्षित मछली रखने हेतु आइस बॉक्स उपलब्ध कराने की मांग के साथ निषाद समाज पर अत्याचार, शोषण, हत्या एवं चोरी के मत्स्य शिकारमाही करने वालों को जेल भेजने का प्रावधान करने की मांग शामिल है. साथ ही विशेष अवसर एवं प्राथमिकता के आधार पर सरकारी एवं गैर-सरकारी शिक्षण संस्थानों में सभी तरह की उच्च शिक्षा निःशुल्क प्रदान करने के साथ मतस्य विभाग में आईएएस मत्स्य निदेशक नियुक्त करने की मांग भी शामिल है.

इसके अलावा मत्स्यजीवी सहयोग समितियों के जलकरों का सीमांकनोपरांत जीर्णोद्धार, अतिक्रमण मुक्त एवं घेराबंदी, सुखाग्रस्त जलकरों का राजस्व माफ़, निःशुल्क नाव एवं जाल, गैर मछुआरों का निष्कासन, सदस्यता ऑनलाइन, सर्वसुविधा संपन्न कार्यालय, मत्स्य किसान क्रेडिट कार्ड, हर तालाब में पानी, बिहार मत्स्य जलकर प्रबंधन नियमावली, मत्स्य जलकर प्रबंधन अधिनियम संशोधन अन्य विभागीय जलकरों को मत्स्य विभाग में हस्तांतरण एवं परम्परागत मछुआरों की सूची जारी किए जाने की मांग प्रमुखता से शामिल है.

धरना प्रदर्शन में पार्टी के वरिष्ठ वंश वैज्ञानिक शिव बच्चन प्रसाद, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव छोटे साहनी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बैधनाथ सहनी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ब्रह्मदेव सहनी, प्रदेश युवा अध्यक्ष गौतम बिंद, प्रदेश सलाहकार राम प्रवेश बिंद, पटना जिलाध्यक्ष अर्जुन कुमार सहनी, जिलाध्यक्ष शिवहर जोगिंदर सहनी, जिलाध्यक्ष शेखपुरा पप्पू चौहान, व्यास निषाद, युवा सचिव ई. शंकर सहनी, सत्येंद्र निषाद तथा पप्पू निषाद सहित सैकड़ों पदाधिकारी तथा कार्यकर्ता मौजूद रहे.

About परमबीर राजपूत 2434 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*