Muzaffarpur News: स्वास्थ्यकर्मी बहाली घोटाला मामले में सरकार ने रद्द की नियुक्ति, सिविल सर्जन से 48 घंटे में जवाब मांगा

लाइव सिटीज, मुजफ्फरपुर/ अभिषेक: मुजफ्फरपुर में 780 स्वास्थ्यकर्मियों की बहाली में घोटाले को लेकर हंगामा मचने के बाद राज्य सरकार ने नियुक्ति को रद्द कर दिया है. सरकार द्वारा जारी पत्र में कहा गया है कि मुजफ्फरपुर के डीएम के प्रतिवेदन के आधार पर नियुक्ति को रद्द किया गया है. स्वास्थ्य विभाग ने मुजफ्फरपुर के सिविल सर्जन से 48 घंटे में जवाब देने को कहा है कि गलत तरीके से नियुक्ति करने के आरोप में उनके खिलाफ क्यों नहीं कार्रवाई की जाये.

दरअसल मुजफ्फरपुर में सिविल सर्जन के स्तर पर कोविड से निपटने और वैक्सीनेशन को सही तरीके से लागू करने के नाम 780 स्वास्थ्यकर्मियों की संविदा पर अस्थायी बहाली की गयी थी. नियुक्ति के 20 दिन बाद मुजफ्फरपुर के डीएम ने मामले की जांच करायी. जांच में पाया गया कि नियुक्ति में बड़े पैमाने पर गडबड़ी की गयी है. जांच रिपोर्ट आने के बाद दो दिन पहले डीएम ने सारी नियुक्ति को रद्द करने का आदेश दिया. सिविल सर्जन के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा भी कर दी. लेकिन नियुक्ति रद्द होने के बाद बहाल किये गये कर्मचारियों ने भारी हंगामा खड़ा कर दिया.

बता दे कि शुक्रवार को उन्होंने जमकर हंगामा किया. इसके बाद सिविल सर्जन ने उन्हें फिर से बहाल करने का आदेश जारी कर दिया. मुजफ्फरपुर में हुए इस भर्ती घोटाले को लेकर पूरे स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मचा था.