मुजफ्फरपुर अश्लील ऑडियो मामले में कार्रवाई, सार्जेंट मेजर कामेश्वर दास सस्पेंड

muz

लाइव सिटीज, मुजफ्फरपुर (अभय राज/विकास कुमार) : मुजफ्फरपुर में पदस्थापित रेल पुलिस इंस्पेक्टर सह सार्जेंट मेजर कामेश्वर दास पर कार्रवाई हो गई है. उन्हें तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है. उनपर नौकरी दिलाने के नाम पर एक विधवा महिला से शरीरिक संबंध बनाने का दबाव देने का आरोप है. उक्त विधवा महिला से बातचीत का ऑडियो बीते कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था. शनिवार को ही इस मामले में बिहार राज्य महिला आयोग ने संज्ञान लेते हुए मुजफ्फरपुर के एसएसपी को लेटर लिख कार्रवाई की मांग की थी.

बता दें कि पीड़ित महिला का पति जीआरपी में काम करता था. 5 साल पहले पति की मौत हो गयी. नियम के अनुसार अब इस पीड़ित विधवा को नौकरी मिलनी है. अपितु उससे पहले मेडिकल के नाम पर सार्जेंट मेजर उन्हें ब्लैकमेल कर रहे थे. वही पीड़ित विधवा के साथ शारीरिक संबंध बनाना चाहता था. कहा जा रहा है कि सार्जेंट मेजर फोन पर पीड़ित महिला से पहले भी कई बार गंदी-गंदी बात कर चुके हैं.

इससे पहले मुजफ्फरपुर के रेल एसपी संजय कुमार सिंह के द्वारा ऑडियो प्रकरण में जांच टीम गठित की गयी थी. वहीं जिस महिला से सार्जेंट मेजर गंदी-गंदी बात कर रहे थे, उसकी पहचान कर ली गयी है. जांच टीम ने इस घटना में शामिल दोनों पक्षों से पूछताछ की है.

इस वायरल वीडियों के बाबत दावा किया जा रहा है कि सार्जेंट मेजर कामेश्वर दास द्वारा विधवा को नौकरी के बदले मुजफ्फरपुर के लीची बगान रेलवे कॉलोनी स्थित अपने सरकारी आवास पर बुलाया जा रहा था. इसके लिए फोन पर गंदी बातें की गईं.

अनुकंपा पर नौकरी से पहले का है ऑडियो

मामले में कहा यह भी जा रहा है कि उक्त महिला की कुछ दिनों पहले अनुकंपा पर बहाली हो गई है. अभी वह महिला ट्रेनिंग कर रही है. सोशल मीडिया पर वायरल ऑडियो में साफ़ कि वह महिला को अपने घर आने को कह रहा है. ऑडियो में सार्जेंट मेजर न सिर्फ आपत्तिजनक बातें कर रहे हैं, बल्कि महिला पर जबरिया शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव भी डाल रहे हैं.

इस संबंध में मुजफ्फरपुर रेल एसपी संजय सिंह ने मीडिया से बातचीत करने के दौरान ऑडियो संज्ञान में आने की बात कही थी. उन्होंने कहा कि मामले का वैज्ञानिक तरीके से जांच कर उचित कार्यवाई की जाएगी.