मुजफ्फरपुर : केजरीवाल अस्पताल मामले में भड़के पत्रकार, SSP ने कहा – होगी कार्रवाई

लाइव सिटीज, मुजफ्फरपुर (विकाश कु गुप्ता) : मुजफ्फरपुर के केजरीवाल अस्पताल में आज मंगलवार को हुयी मारपीट मामले में एसएसपी मनोज कुमार ने कड़ी कार्रवाई करने का भरोसा दिया है. एसएसपी ने कहा है कि घटना का सबूत कैमरे में कैद हो गया है जिसके आधार पर कानूनसम्मत कार्रवाई की जायेगी. उन्होंने कहा कि यह मामला बहुत गंभीर और संवेदनशील है इसलिए घटना से जुड़े किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा.

बता दें कि केजरीवाल अस्पताल में एक मासूम की मौत के बाद अराजकता का आरोप लगाकर उसके परिजन विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. इसी बीच कथित तौर पर अस्पतालकर्मियों ने गेट को लॉक करते हुए प्रदर्शन कर रहे लोगों को लाठी-डंडे से दौड़ा-दौड़ाकर बेरहमी से पीटा. इस घटना की खबर मिलते ही मौके पर पहुंचे मीडियाकर्मियों को भी नहीं छोड़ा. आरोप है कि अस्पतालकर्मियों द्वारा सरेआम पत्रकारों के साथ भी अमानवीय व्यवहार किया गया.

मिली जानकारी के अनुसार घटना की समाचार कवरेज करने पहुंचे एक दैनिक हिंदी के प्रतिष्ठित अख़बार के छायाकार एवं पत्रकार के साथ अमानवीय व्यवहार करते हुए लाठी के बल पर कैमरे से तस्वीर को डिलीट कराया गया. उसके बाद कुछ लोगों का कैमरा भी तोड़ा गया. घटना के बाद किसी तरह लोग जान बचाकर भागे.

पत्रकारों ने जताया विरोध

घटना के बाद स्थानीय ब्रह्मपुरा थाना परिसर में सभी पत्रकार एकजुट हो गए. सभी लोग उपद्रवियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे. इधर कुछ मीडियाकर्मियों ने आरोप लगाया है कि उन्हें पीआरडी के व्हाट्सएप ग्रुप में मामले से संबंधित पोस्ट करने पर ग्रुप से हटा दिया गया है. उनका कहना है कि डीपीआरओ ने कुछ मीडियाकर्मियों से संपर्क कर इस संबंध में किये गए मैसेज डिलीट करने तथा ऐसा मैसेज न डालने की सलाह दी.

मालूम हो कि बिहार में चमकी बुखार यानि AES का कहर जारी है. अब तक इस बीमारी से मुजफ्फरपुर के SKMCH और केजरीवाल अस्पताल में करीब 130 बच्चों की मौत हो चुकी है. इधर अस्पताल प्रबंधन परिजनों से गुंडागर्दी पर उतर आए हैं. बुखार की वजह से बिहार में मचे हाहाकार के बीच इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट में दायर दो याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने इस मामले पर बिहार सरकार से सात दिन के भीतर जवाब मांगा है. इसके साथ ही कोर्ट ने केंद्र सरकार को भी नोटिस जारी किया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*