पटना: हाईकोर्ट की तरफ से जजों की नियुक्ति के लिए भेजे गए नामों को सुप्रीम कोर्ट ने किया वापस

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पटना हाईकोर्ट ने जजों की नियुक्ति के लिए सुप्रीम कोर्ट को कुछ नाम भेजे थे, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने वापस लौटा दिया है. मिली जानकारी के मुताबिक एक साल पहले पटना हाईकोर्ट के तत्कालीन चीफ जस्टिस एपी शाही, जस्टिस ज्योति सरन और जस्टिस राकेश कुमार की कोलेजियम ने वकील कोटे और न्यायिक सेवा कोटे से जजों की नियुक्ति के लिए जिन नामों की अनुशंसा की थी उसे वापस कर दिया गया है.

सुप्रीम कोर्ट ने यह कहा है कि कोलेजियम को नए तरीके से नाम भेजना चाहिए. मौजूदा कोलेजियम में चीफ जस्टिस संजय करोल, जस्टिस दिनेश सिंह, जस्टिस हेमंत श्रीवास्तव शामिल हैं। हाईकोर्ट में जजों के स्वीकृत 53 पद हैं और मौजूदा समय में 23 ही कार्यरत हैं। इनमें 18 वकील कोटे से और 5 न्यायिक कोटे से हैं.



पिछली बार हाईकोर्ट कोलेजियम की तरफ से जो नाम भेजे गए थे उनमें वकील कोटे से अमित श्रीवास्तव, पियूष लाल, कुमार मनीष, अमित पवन, जेके वर्मा, राजकुमार, संदीप कुमार, शिल्पा सिंह, मनीष कुमार, संजय गिरी, अर्चना खोपड़े, डॉ अंशुमान, राशिद इजहार, ख़ातिम रजा और मृगांक मौली का नाम भेजा गया था. न्यायिक सेवा के कोटे से आठ वरिष्ठ न्यायिक अधिकारियों के नाम की अनुशंसा की गई थी लेकिन अब इन सब को निराशा हाथ लगी है. क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने नए सिरे से नाम की मांग की है.