झंडापुर तिहरे हत्याकांड में कामयाबी : नवगछिया पुलिस ने 3 को किया है अरेस्ट

नवगछिया/पटना (राकेश कुमार रोशन के साथ) : बीते माह 26 नवंबर को भागलपुर के नवगछिया पुलिस जिला अंतर्गत झंडापुर में हुए तिहरे हत्याकांड में पुलिस को आज सफलता हाथ लगी है. इस मामले में नवगछिया पुलिस ने तीन लोगों को अरेस्ट किया है. नवगछिया एसपी पंकज सिन्हा ने इस गिरफ्तारी की पुष्टि की है. उन्होंने बताया है कि गिरफ्तार लोगों के पास से हत्या में इस्तेमाल किया गया सामान भी बरामद हुआ है. पुलिस फिलहाल सभी आरोपियों से पूछताछ में जुटी है. उनसे मिली जानकारी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जायेगी.

मालूम हो कि इस हत्याकांड में एक ही दलित परिवार के तीन लोगों को नृशंस तरीके से काट कर मार डाला गया था. घटना में एक पीड़ित किशोरी बिंदी कुमारी 26 नवंबर से ही पटना के PMCH में भर्ती है. दिल दहलाने वाले इस ट्रिपल मर्डर में नवगछिया एसपी की अगुवाई में एक टीम लगातार जांच में लगी थी. केस को कई एंगल से खंगाला जा रहा था. शक के आधार पर कई गांव वालों से पूछताछ भी की गई थी. पुलिसिया जांच में यह बात सामने आई थी कि मृतक (बिंदी के पिता) का मछली पालने को लेकर कुछ लोगों से विवाद था.



बीते दिनों भागलपुर रेज के DIG विकास वैभव ने भी पटना में बिंदी कुमारी से मुलाक़ात की थी. मुलाक़ात के बाद DIG विकास वैभव ने कहा था कि उसकी हालत में काफी सुधार हुआ है. लेकिन अभी भी वह पूरी तरह होश में नहीं आ पाई है और इस वजह से पुलिस द्वारा उसका बयान नहीं लिया जा सका है. उन्होंने कहा कि पीड़िता की सिक्यूरिटी के लिए पटना और नवगछिया पुलिस की एक जॉइंट टीम 24 घंटे PMCH में कैंप कर रही है. जैसे ही वो होश में आयेगी पुलिस टीम उसका बयान रिकॉर्ड कर लेगी.

इस हत्याकांड में मृतक कनिक राम है और उसकी पत्नी मीना देवी को नृशंस तरीके से गला काटकर मार डाला गया था. इस वारदात के शिकार हुए 2 बच्चों को पहले मायागंज के अस्पताल में भर्ती किया गया था जहां एक बच्चे की मौत हो गई थी. दूसरी गंभीर रूप से घायल किशोरी को इलाज के लिए पटना भेज दिया गया था. इस मामले ने बाद में राजनीतिक रंग भी लिया था. मधेपुरा सांसद-सह- जन अधिकार पार्टी सुप्रीमो पप्पू यादव PMCH में इलाजरत किशोरी से मिलने गए थे. उन्होंने इस हत्याकांड को ‘दलित नरसंहार’ बताते हुए नीतीश सरकार पर निशाना भी साधा था.