NDRF की 23 टीमें बिहार बाढ़ आपदा से निपटने में मुस्तैद,10,000 से अधिक लोगों को किया रेस्क्यू

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बाढ़ आपदा से निपटने के लिए वाराणसी से एनडीआरएफ की दो टीमें आज पटना पहुंची. इन दोनों में से एक को समस्तीपुर और दूसरी टीम को वैशाली जिले में तैनात किया गया है. बिहटा (पटना) स्थित 9वीं बटालियन एनडीआरएफ के कमान्डेंट विजय सिन्हा ने जानकारी देते हुए बताया कि बिहार राज्य में बाढ़ आपदा से निपटने के लिए राज्य आपदा प्रबंधन विभाग की मांग पर इस समय एनडीआरएफ की कुल 23 टीमें राज्य के 14 जिलों में तैनात की गई है.

5 टीमें सारण जिला में, 3 टीमें पूर्वी चम्पारण जिला में, 2- 2 टीमें दरभंगा, समस्तीपुर और गोपालगंज जिले में एवं 1-1 टीम कटिहार, किशनगंज, अररिया, सुपौल, मधुबनी, पश्चिम चम्पारण, सीवान, वैशाली तथा मुजफ्फरपुर जिले में अत्याधुनिक आपदा प्रबंधन एवं संचार उपकरणों के साथ तैनात हैं.



कमान्डेंट विजय सिन्हा ने आगे बताया कि अब तक बिहार राज्य के विभिन्न जिलों में प्रशासन के सहयोग से रेस्क्यू ऑपेरशन चलाकर एनडीआरएफ के बचावकर्मियों ने दस हजार से अधिक बाढ़ विभीषिका में फंसे लोगों को रेस्क्यू करके सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया है.

रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान बाढ़ प्रभावित इलाकों से गर्भवती महिलाओं को मोटर बोट से सुरक्षित रेस्क्यू करना एक चुनौतीपूर्ण कार्य है. स्थानीय प्रशासन के समन्वय से बाढ़ आपदा में फंसे लोगों को सहायता पहुंचाने में दिन-रात जुटे हैं.  हमारे एनडीआरएफ के प्रशिक्षित कार्मिक कठिन परिश्रम और साहस के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन पूरी निष्ठा और जिम्मेदारी के साथ कर रहे हैं.

उन्होंने आगे जानकारी सांझा करते हुए बताया कि इस वर्ष बाढ़ राहत एवं बचाव ऑपेरशन के दौरान एनडीआरएफ के हमारे बचावकर्मी कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के सुरक्षात्मक दिशा-निर्देश और प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कर रहे हैं तथा समुदाय के लोगों को भी कोविड-19 से सुरक्षात्मक उपायों को पालन करने के लिए जागरूक एवं प्रोत्साहित कर रहे हैं.

कोरोना वायरस महामारी को ध्यान में रखते हुए एनडीआरएफ के कार्मिकों को पीपीई, मास्क, फेस शील्ड, फैब्रिकेटेड फेस हुड कवर, सेनेटाइजर, हैंड वाश, सोडियम हाइपोक्लोराइट आदि दिया गया है.

उन्होंने बताया कि बाढ़ राहत एवं बचाव ऑपेरशन के दौरान एनडीआरएफ को भी स्थानीय लोगों से भरपूर सहयोग मिल रहा है.