नीतीश कुमार ने साफ कर दिया, अभी ‘एक देश एक चुनाव’ संभव नहीं

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

लाइव सिटीज पटना : एक देश एक चुनाव पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साफ कहा कि मौजूदा परिस्थिति में यह संभव नहीं है. इस समय लोकसभा और विधानसभा का चुनाव एक साथ नहीं कराया जा सकता है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंगलवार को पटना के अधिवेशन भवन में आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे ​थे. उन्होंने अनुसूचित जाति-जनजाति, पिछड़ा-अतिपिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं के लिए सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना का शुभारंभ किया. दरअसल ‘वन नेशन वन इलेक्शन’ की मांग पिछले कई माह से देश में उठ रही है. केंद्र इसे अमलीजामा पहनाने के लिए जोर-शोर से लगा हुआ भी है. लेकिन एनडीए के घटक दल जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने नया दांव चल दिया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साफ कहा कि देश का जो मौजूदा माहौल है, ऐसे में एक साथ लोकसभा और विधानसभा का चुनाव कराना संभव नहीं है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वैचारिक रूप से दोनों चुनाव एक साथ होने चाहिए, लेकिन फिलहाल ये संभव नहीं है. उन्होंने कहा कि देश की वर्तमान स्थिति को देखते हुए दोनों चुनाव कराना ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि वन नेशन वन इलेक्शन के लिए संविधान में संशोधन करना होगा. कई स्तरों पर बदलाव की जरूरत पड़ेगी. इसकी प्रक्रिया लंबी है, इसमें वक्त लगेगा. इसमें जल्दीबाजी करने की कोई जरूरत नहीं है.

नीतीश कुमार ने विपक्ष पर भी तंज किया. उन्होंने कहा कि कुछ लोग सौहार्द बिगाड़ने में लगे हैं, लोग इससे अलर्ट रहें. लोग सोशल मीडिया का दुरुपयोग नहीं करें. उन्होंने कहा कि चंद कारखाने लगाने और बड़े लोगों को लाभ देने से ही विकास नहीं होता. लोगों को भड़काना और उल्टा-पुल्टा समझाना कुछ लोगों की आदत है. हमें इन सब से कोई लेना-देना नहीं है.

मुख्यमंत्री ने अनुसूचित जाति-जनजाति, पिछड़ा-अतिपिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं के लिए सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना का शुभारंभ करते हुए यह भी कहा कि ज्ञान की भूमि रहा बिहार आज शिक्षा में पिछड़ गया है और शिक्षा में बिहार को फिर से आगे बढ़ाना है. उन्होंने कहा कि एससी-एसटी कल्याण विभाग के पुराने और जर्जर भवन का पुनर्निर्माण किया गया है. छात्रों के लिए सभी बुनियादी सुविधाएं दी गयी हैं. लेकिन फिर भी लगा कि इन छात्रों को कुछ और मिलना चाहिए. छात्र-छात्राओं को और मदद करनी चाहिए तो हमने इस योजना की आज शुरुआत की है. केंद्र से हमने इन छात्र-छात्राओं को बीपीएल दर पर अनाज देने की बात की और उसके बाद हमने फैसला लिया कि छात्रों को 1000 अनुदान राशि भी देंगे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*