मुकेश सहनी के लिए नीतीश कुमार ने मांगा वोट, कहा बिहार के विकास में निभाइए अपनी भागीदारी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार के सीएम नीतीश कुमार चुनावी प्रचार पर निकले हैं. इस दौरान वे सहरसा के सिमरी बख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र पहुंचे. यहां उन्होंने एनडीए के सहयोगी और वीआईपी पार्टी मुखिया और प्रत्याशी मुकेश सहनी के लिए वोट मांगा. साथ ही उनके बेहतर स्वास्थ्य की कामना की. इस दौरान मंच पर नीतीश कुमार के साथ एनडीए के कई नेता मंच पर मौजूद रहे.

नीतीश कुमार ने कहा कि मुकेश सहनी को कुछ दिन पहले कोरोना हो गया था, अभी वे इलाजरत हैं. उन्होंने कहा कि वे जल्द से जल्द ठीक हो जाए, यही हमारी कामना है. इसलिए मैं उनके लिए यहां आप सबसे बात करने आया हूं. इस दौरान उन्होंने सभी एनडीए के नेता को धन्यवाद किया. उन्होंने कहा कि हमलोगों का काम है लोगों की सेवा करना और जो एनडीए गठबंधन है, उसमें सभी एकजुट होकर लड़ रहे हैं. सीएम ने कहा कि सिमरी बख्तियारपुर से मेरा पुराना रिश्ता रहा है. उन्होंने कहा कि मेरा जन्म बख्तियारपुर में हुआ है, जोकि पटना में है और ये है सिमरी बख्तियारपुर, इसमें भी बख्तियापुर है. मेरा तो आपसे व्यक्तिगत नाता रहा है.



अपने भाषण के दौरान सीएम ने कहा कि हम जब भी आते हैं इस बात को हमेशा कहते हैं. उन्होंने कहा कि एनडीए में विकासशील पार्टी के चीफ मुकेश सहनी और इस क्षेत्र से प्रत्यशी भी वही हैं. इसलिए उन्हें भारी संख्या में वोट देकर उन्हें जिताना है. उन्होंने आगे कहा कि जब से वीआईपी पार्टी एनडीए में शामिल हुई है तबसे हमारा गठबंधन और भी मजबूत हो गया है. उन्होंने कहा कि आपसे गुजारिश है कि आप भाई मुकेश सहनी को इस क्षेत्र से जिताए. मुझे पूरा भरोसा है कि वे इस क्षेत्र से जीतकर बहुत काम करेंगे.

सीएम ने भाषण को आगे बढ़ाते हुए कहा कि हम तो जब एमपी थे तभी से काम करते आ रहे हैं. हमने तो देखा कि मुकेश सहनी इस इलाके के बारे में इतना जानते हैं कि किसी को कुछ कहने की जरूरत नहीं है. लेकिन जिसको पहले काम करने का मौका मिला, उन्होंने कोई काम नहीं किया. जब से आपने हमें काम करने का मौका दिया तो विकास का काम लगातार जारी है. इसके अलावा जो काम अभी बचा है, हम उसे भी कराने की बात कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि मेरे लिए पूरा बिहार के एक परिवार है, हम सबकी सेवा करना अपना धर्म समझते हैं.

सीएम ने कहा कि जब आपने हमें काम करने का मौका दिया तब हमने कहा था कि बिहार के हर इलाके का विकास और समाज के हर तबके का उत्थान करना ही हमारा फर्ज है. हमने ये काम करके दिखाया भी है. सिर्फ यही नहीं, जो हाशिए पर थे, हमने उनको भी मुख्यधारा से जोड़ने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि जब हम न्याय यात्रा पर निकले थे तब भी हमने सहरसा में यही बात कहा था. सीएम ने कहा कि पहले महिलाओं की क्या प्रतिष्ठा थी? कितनी जनप्रतिनिधि होती थी. लेकिन हमलोगों ने काम को आगे बढ़ाया. हमने पंचायती राज में महिलाओं को 50 प्रतिशत तक का आरक्षण दिया. जिसके बाद अब देख लीजिए कि कितनी महिला जनप्रतिनिधि के रुप में काम कर रही हैं.