बिहार में अभी नहीं होगा खैनी बैन, कह दिया है स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने

मंगल पांडेय , बिहार स्वास्थ्य मंत्री, बिहार, नीतीश कुमार, खैनी, Tobacco ban , Mangal Pandey , Khaini , health minister , Bihar Health Minister
mangal-pandey File photo

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में पूर्ण शराबबंदी के बाद नीतीश सरकार अब ‘खैनी’ पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रही है. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि कई बीमारियों के लिए जिम्मेदार ‘खैनी’ पर प्रतिबंध लगाने के लिए हस्तक्षेप करने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखा गया है. इन सबके बीच बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने ऐसी खबरों का पूरी तरह से खंडन किया है. उन्होंने स्पष्ट किया कि राज्य में खैनी को प्रतिबंधित करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने केंद्र सरकार को कोई पत्र नहीं भेजा है.

खैनी पर प्रतिबंध की कोई योजना नहीं

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा है कि प्रदेश में खैनी पर प्रतिबंध लगाए जाने का कोई प्रस्ताव नहीं है. गौरतलब है कि दो दिन पहले ही यह रिपोर्ट आई थी, जिसके अनुसार बिहार सरकार, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को चिट्ठी लिखकर खैनी को खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम (एफएसएसए), 2006 के अंतर्गत लाने के लिए कहने की योजना बना रही है. ऐसा कहा जा रहा था कि यह कदम तंबाकू के शुद्ध रूप, खैनी की खपत पर प्रतिबंध लगाने के लिए उठाया जाएगा.

मंत्री पांडेय ने कहा, ‘खैनी को एफएसएसए के अंतर्गत लाने की बिहार सरकार की कोई योजना नहीं है और इसके लिए केंद्र सरकार को किसी तरह का पत्र भी नहीं लिखा गया है. प्रदेश के लोग धीरे-धीरे तंबाकू उत्पादों और खैनी के घातक असर को लेकर जागरुक हो रहे हैं. मुझे विश्वास है कि आने वाले वर्षों में इसके उपयोग में कमी आएगी.’

उन्होंने कहा, ‘मुंह के कैंसर से बचने के लिए खैनी और अन्य तंबाकू के उत्पादों का उपयोग नहीं करना चाहिए. कैंसर के 40 फीसदी मामले तंबाकू और खैनी से जुड़े हुए हैं. लेकिन पिछले 6 सालों में खैनी सहित अन्य तंबाकू उत्पादों में 54 फीसदी की कमी आई है.’

यह भी पढ़ें : बिहार में शराबबंदी के बाद अब खैनी पर भी लगेगा प्रतिबंध, सरकार कर रही तैयारी

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*