एक नहीं अब दोनों पैरों से चलेगी सीमा, चिराग पासवान सीमा को बहन बता कर बोले-हमेशा तेरा बड़ा भाई करेगा मदद

लाइव सिटीज पटना: एक पैर से कूदकर स्कूल जाने वाली जमुई जिले के खैरा प्रखंड के फतेहपुर गांव की सीमा अब दोनों पैरों पर चलेगी. ट्राईसाइकिल देने के बाद अब प्रशासन ने सीमा को कृत्रिम पैर लगावाया है. जमुई जिला प्रशासन ने बुधवार को ही सीमा को कृत्रिम पैर लगाने काआश्वासन दिया था. इसी कड़ी में आज चिराग पासवान सीमा से मिलने उसके गांव फतेहपुर पहुंचे. चिराग पासवान ने सीमा को अपनी बहन बताते हुए कहा कि वह जब तक कोई जॉब नहीं करने लगेगी तब तक मैं उसकी मदद करुंगा.

चिराग पासवान ने कहा कि सीमा जिस परिस्थितियों में अपनी साहस और हिम्मत की वजह से अभी भी उन्होंने अपनी शिक्षा को प्राथमिकता दी. अपनी तमाम शारीरिक अक्षमताओं की वजह से उन्होंने इस बात को प्राथमिकता दी कि वह स्कूल जाएगी. पढ़ने की उनकी हिम्मत और हौसले की जितनी दाद दिए जाए उतना कम है. चिराग पासवान ने कहा कि दो दिन पहले जब मुझे खबर मिली तो हमने सीएम से वीडियो कॉल पर बात भी की थी. उन्होंने कहा कि अभी से लेकर जब तक सीमा पढ़ना चाहेगी और जब तक वह अपने करियर को लेकर दोनों पैरों पर खड़ी नहीं हो जाती तब तक मैं उनका बड़ा भाई होने के नाते मजबूती से खड़ा हूं.

दरअसल जमुई जिला प्रशासन ने बुधवार को ही कृत्रिम पैर लगाने के लिए उसके पैर का माप लिया था. फिर शुक्रवार को कृत्रिम पैर लगाया गया. डीएम अवनीश कुमार सिंह खुद सीमा के घर जाकर सीमा को कृत्रिम पैर लगवाया. कृत्रिम पैर लगने के बाद अब सीमा अपने दोनों पैरों पर चलकर काफी खुश नजर आ रही है. इससे पहले सीमा का वीडियो वायरल होने के बाद जिला प्रशासन की पूरी टीम सीमा के घर पहुंचे थे. और इस दौरान पदाधिकारियों द्वारा सीमा को पढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया गया. जिलाधिकारी ने मौके पर ही सीमा को एक ट्राई साइकिल भेंट किया.

बता दें कि एक पैर से घर से स्कूल तक की दूरी नापती है जमुई की सीमा. इन दिनों जमुई जिले के खैरा प्रखंड के फतेहपुर गांव के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाली दिव्यांग छात्रा सीमा की खूब चर्चा है. दरअसल सीमा के हौसले इतने मजबूत हैं कि एक पैर को पूरी तरह खो चुकी सीमा घर से स्कूल तक की दूरी उछल-उछलकर तय कर लेती है. रोज नहाना, तैयार होना और फिर स्कूल ड्रेस और बैग के साथ पगडंडियों से होते हुए स्कूल तक पहुंचना. आज सीमा मिसाल बन चुकी है. इससे पहले बिहार सरकार में मंत्री अशोक चौधरी ने ट्वीट कर लिखा कि अब सीमा चलेगी भी और पढ़ेगी भी. जमुई जिलान्तर्गत खैरा प्रखंड के फतेहपुर गांव की रहने वाली मेधावी बच्ची सीमा के समुचित इलाज की जिम्मेदारी अब “महावीर चौधरी ट्रस्ट” उठाएगा. ये मामला मंत्री सुमित सिंह जी के विधानसभा क्षेत्र से जुड़ा है.