मुजफ्फरपुर महापाप से बिहार सरकार ने लिया सबक, खुद से चलाएगी शेल्टर होम

सीएम नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : मुजफ्फरपुर महापाप से बिहार सरकार ने सबक लिया है. सरकार ने फैसला लिया है कि वह आश्रय गृह और बालिका गृह खुद से संचालित करेगी. इस योजना का नाम का मुख्यमंत्री वृहत आवास योजना होगा. पहले चरण में 12 जिलों के आश्रय गृह को संचालित करने की योजना है. इसके लिए वैशाली, गोपालगंज, और बक्सर में जमीने भी चिन्हित कर ली गई हैं. अन्य जिलों में भी यह योजना जल्द चालू हो जाएगी.

समाज कल्याण विभाग ने इस योजना की तैयारी पूरी कर ली है. 12 जिलों में बनने वाले इन शेल्टर होम में बुजुर्गों, लड़कियों और लड़कों के रहने की व्यवस्था होगी. इनके रहने की व्यवस्था तीन अलग-अलग ब्लॉकों में होगी.

इन शेल्टर होम में रहने वालों को सरकार रोजगार भी देगी. कैंपस में रोजगार से जुड़ी मशीनें भी लगाई जाएंगी. जिससे शेल्टर होम में बनी वस्तुओं को बाहर भी बेचा जा सके. सरकार की तैयारी है कि पूरे कैंपस की निगरानी सीसीटीवी कैमरों के जरिए की जाए. और सुरक्षा की भी पूरी व्यवस्था चाक-चौबंद रहेंगे.

गौरतलब है कि शेल्टर होम कांड में बिहार सरकार को फजीहत उठानी पड़ी थी. बीते महीने मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न मामले में सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में खुलासा किया है कि मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर और उसके सहयोगियों के खिलाफ 11 लड़कियों की कथित रूप से हत्या की भी जांच की जा रही है. सीबीआई ने यह भी बताया है कि मुजफ्फरपुर में एक श्मशान घाट से हड्डियों की पोटली बरामद हुई है, जिसकी फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट आनी अभी बाकी है.

गौरतलब है कि शेल्टर होम कांड का खुलासा होने के बाद बिहार सरकार की खूब बदनामी हुई थी. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में सीबीआई ने कहा है कि मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर समेत अन्य लोगों की 11 हत्याओं के मामले में भूमिका की जांच हो रही है. सीबीआई ने कहा है कि शेल्टर होम में खुदाई में हड्डियां मिली हैं. सीबीआई ने इस मामले में जांच पूरी करने के लिए और समय मांगा है.

About परमबीर राजपूत 2246 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*