अब आपस में भिड़ गए ये कुंभ वाले, कह रहे हैं- हम नहीं, आपलोग फैलाए हैं कोरोना; महामंडलेश्वर की कोरोना से मौत

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : कोरोना संक्रमण के बीच हरिद्वार का कुंभ मेला तथा पश्चिम बंगाल में हो रहे विधानसभा चुनाव इन दिनों सुर्खियों में है. देश में बढ़ रहे कोरोना मरीजों की रफ्तार को देखते हुए इन दोनों कार्यक्रमों पर सवाल उठने लगे हैं. इसे लेकर अब बड़ी खबर आ रही है कि काफी संख्या में साधु-संन्यासी कोरोना पॉजिटिव हो रहे हैं. हरिद्वार से आ रही खबर के अनुसार कोरोना संक्रमण को लेकर अब अखाड़े वाले अपने में ही भिड़ गये हैं और एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं. बता दें कि दो दिन पहले निर्माणी अणि अखाड़ा के महामंडलेश्वर की मौत हो गई है, जबकि निरंजनी अखाड़े ने कुंभ समाप्ति की घोषणा कर दी है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कुंभ में कोरोना फैलने को लेकर अब अखाड़े वाले आपस में ही भिड़ गए हैं. बैरागी अखाड़े के अनुसार, कुंभ में कोरोना संन्यासी अखाड़े के कारण फैला है. हमलोगों ने इसे नहीं फैलाया है. ऐसे में कोई भी एक या दो अखाड़े कुंभ खत्म करने का फैसला नहीं कर सकते हैं. निर्मोही अखाड़े के अध्यक्ष महंत राजेंद्र दास के अनुसार, कुंभ में बढ़ते संक्रमण के लिए अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि जिम्मेदार हैं.

दरअसल, इस बार कुंभ मेला को लेकर 14 अप्रैल को शाही स्नान हुआ था. इसी के बाद से देश में इस पर बहस शुरू हो गई है. वहीं, यह भी रिपोर्ट आ रही है कि कुंभ में शाही स्नान के बाद से अब तक 50 से अधिक साधु-संन्यासी पॉजिटिव हो चुके हैं. बता दें कि दो दिन पहले कोरोना से निर्माणी अणि अखाड़ा के महामंडलेश्वर की मौत हुई है. हरिद्वार में कोरोना की रफ्तार भी तेज है. विगत चार दिनों से 500 के रेशियो में कोरोना मरीज बढ़ रहे हैं.