बुजुर्ग को बताया डायन और काट ली जीभ, सिर पर रॉड से भी मारा

रोहतास crime news, हत्या, murder, क्राइम, गोली, क्राइम समाचार, बिहार हिन्दी समाचार, news, arrah news, बिहार हिन्दी समाचार
CRIME-NEWS-

सासाराम. सेंट्रल डेस्क.  एक ओर जहां दुनिया विज्ञान में विश्वास कर रही है वहीं ​हमारे देश में आज भी कई ऐसी जगहें हैं जहां लोग अंधविश्वास को मानते और इसी के अनुसार जिते भी हैं. ऐसी हीे एक घटना बिहार के रोहतास जिले से सामने आई है. यहां एक बुजुर्ग महिला की जीभ लोगों ने उसपर डायन का आरोप लगाकर काट दिया. गांव के कई लोगों ने पीड़ित महिला पर डायन होने का आरोप लगाया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार रोहतास के तिलौथु थाना क्षेत्र से मानवता को शर्मसार करने वाली ये घटना सामने आई है.यहां अंधविश्वास से घिरे गांव के लोगों ने एक बुजुर्ग महिला की जीभ काट ली.

जीभ काटने के बाद सर पर रॉड से किया वार

इस पूरे मामले को लेकर पुलिस की ओर से आई जानकारी के अनुसार रेडिया गांव में एक बुजुर्ग महिला के डायन होने के शक पर गांव के ही तीन लोगों ने घर में घुसकर उनकी जीभ काट डाली. इतना हीं नहीं इन लोगों ने बुजुर्ग महिला के सर पर भी लोहे के रॉड से प्रहार कर उसे जख्मी कर दिया. जख़्मी महिला को सासाराम सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है.

जिस महिला को डायन बताया गया है वो रेडिया गांव निवासी स्वर्गीय दीपू रजवार की 70 वर्षीय विधवा राजकालो कुंअर है. महिला अपने एक पोते व दो पोतियों के साथ शनिवार को घर में सो रही थी. इसी दौरान गांव के बिगहा टोले के नन्हक रजवार व उसके दोनों बेटे छट्टू रजवार और उदय रजवार उसके घर में घुस आए और घटना को अंजाम दिया.

 

पुलिस ने मामला कर लिया है दर्ज

इस घटना को लेकर तिलौथु के थाना प्रभारी प्रमोद कुमार ने जानकारी देते हुए बताया है कि रविवार शाम पीड़िता की पोती संतरा के बयान पर इस मामले की एक प्राथमिकी तिलौथु थाना में दर्ज कर ली गई है, जिसमें नन्हक रजवार, छट्टू रजवार और उदय रजवार को नामजद आरोपी बनाया गया है. सभी आरोपी फरार बताए जा रहे हैं. इस बारे में पुलिस ने आगे कहा है कि प्रथम दृष्टवा इस घटना के पीछे ओझा-गुणी की बात सामने आती दिख रहीं है. पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है.

इस घटना के अलावे बिहार में कई जगहों पर ऐसी अंधविश्वाास के कारण होनें वाली घटनाएं सामने आ रहीं हैं. इस घटना में ज्यादातर को महिलाएं शिकार बनती है. एक ओर जहां बिहार में हाल हीं के दिनों में महिलाओं के प्रति बलात्कार जैसी घिनौनी अपराध की घटनाएं बढ़ी हैं तो वहीं अंधविश्वास के कारण भी महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराधों में कमी नहीं दिख रही है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*