दलित अत्याचार के बहाने बिहार एनडीए में फिर दिखी तकरार! बीजेपी कोटे से मंत्री बने जनक राम ने नीतीश सरकार पर उठाए सवाल, जानें क्या कहा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में बीजेपी आजकल अपनी ही सरकार को घेर रही है. पहले बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने पुलिस की कार्रवाई को लेकर सवाल उठाए. अब नीतीश कैबिनेट में मंत्री जनक राम ने दलित अत्याचार को लेकर एक पत्र लिखा है. उन्होंने विभिन्न जिलों में महादलित समुदाय की लड़कियों को कथित तौर पर अगवा कर जबरन धर्मांतरण के बाद निकाह कराए जाने को लेकर चिंता जताते हुए कार्रवाई की मांग की है.

मंत्री जनक राम ने गोपालगंज और जमुई जिले के डीएम और एसपी को चिट्ठी लिखकर धर्म परिवर्तन का संवेदनशील मुद्दा उठाया. जनक राम ने दोनों जिलों की अलग-अलग घटनाओं का चिट्ठी में जिक्र किया. उन्होंने कहा कि ‘प्रदेश में दलितों पर अत्याचार हो रहा है. उनकी बेटियों को किडनैप किया जा रहा है और जबरन धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है. उनका निकाह कराया जा रहा है.’ मंत्री ने इसे लव जिहाद से जोड़ा.इसमें उन्होंने दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की है. उन्होंने कहा कि इसी तरह का एक अन्य मामला मुजफ्फरपुर जिले में भी प्रकाश में आया है.

मंत्री ने कहा कि जमुई के जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को इस संबंध में पत्र लिखा गया. उन्होंने कहा कि इसमें चंद्रदीप थाना अंतर्गत दीननगर गांव में महादलित समाज की एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर एक विशेष समुदाय के कुछ लोगों द्वारा धर्म परिवर्तन कराकर निकाह कराने और आरोपियों द्वारा पीड़िता के पिता और उसके परिवार को जान से मारने की धमकी दिए जाने का जिक्र करते हुए दोषियों के विरूद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई करने को कहा है. उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवारों को जल्द से जल्द न्याय मिलना चाहिए.

जीतनराम मांझी ने कहा कि ‘साधारण प्रेम प्रसंग और धर्म परिवर्तन या लव जेहाद में फर्क समझने की जरूरत है. मंत्री जी को इसको एक ही नजरिए से नहीं देखना चाहिए. ये साधारण प्रेम प्रसंग का मामला है. प्रदेश में लव जिहाद और धर्म परिवर्तन जैसा कोई मामला नहीं है.’

उल्लेखनीय है कि गत छह जून को बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल ने पूर्णिया जिला सहित प्रदेश में विगत कुछ दिनों में दलितों पर अल्पसंख्यक समाज द्वारा कथित तौर पर अत्याचार किये जाने की घटनाएं काफी बढ़ जाने का आरोप लगाते हुए कहा था कि प्रशासन को हर जगह चौकसी बरतने की जरूरत है.