हाजीपुर सोना लूटकांड का एक आरोपी घर बेच परिजनों के साथ हुआ फरार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : हाजीपुर के मुथूट फाइनेंस से 55 किलो 777 ग्राम सोना लूटकांड में शामिल लालगंज थाना क्षेत्र के बलुआ बसंता गांव के रहने वाले वीरेंद्र शर्मा के घर पुलिस ने रविवार की रात छापेमारी की. लेकिन सफलता नहीं मिली. वहीँ, लूटकांड में शामिल भगवानपुर के अलकापुरी के किशलय की गिरफ्तारी भी सदर पुलिस के लिए चुनौती बन गई है. बताया जा रहा है कि वह और उसका परिवार अलकापुरी स्थित आवास बेचकर फरार हैं इस कारण उसकी गिरफ्तारी में समस्या आ रही है.

लूटकांड का मास्टरमाइंड कहे जा रहे वीरेंद्र शर्मा की भाभी को पुलिस ने रविवार को रात हिरासत में ले लिया उनसे पूछताछ की जा रही है. वहीं पुलिस ने भारी पुलिस बल के साथ बलुआ बसंता गांव में कई स्थानों पर छापेमारी की. लूटकांड में पुलिस ने जिन तीन लुटेरों की पहचान की थी उसमें वीरेंद्र शर्मा भी शामिल है. यह मुजफ्फरपुर सोना लूटकांड में भी आरोपी रहा है. पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी की थी, बाहर आने के बाद वह हाजीपुर स्थित मुथूट फाइनेंस में हुई 55 किलो सोना लूटकांड में भी शामिल हुआ.



जेल में बंद तीन आरोपितों को रिमांड पर लेगी पुलिस

वहीँ, मुजफ्फरपुर के भगवानपुर स्थित मुथूट फाइनेंस की शाखा से 32 किलो सोना लूटकांड में सदर पुलिस हाजीपुर जेल में बंद तीन आरोपियों से पूछताछ करेगी. इसके लिए प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. पुलिस ने तीनों की रिमांड के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल की.

अर्जी मंजूर होते ही सदर पुलिस तीनों आरोपियों से लूटकांड में फरार अपराधियों और बाकी बचे 14 किलो सोना आदि के बिंदुओं पर पूछताछ करेगी. बीते शनिवार को हाजीपुर में मुथूट फाइनेंस से 55 किलो सोना लूट की घटना के बाद सदर पुलिस भगवानपुर मुथूट फाइनेंस लूटपाट की जांच में सक्रिय हो गई है.

गिरोह के सरगना समस्तीपुर के दलसिंहसराय निवासी और वैशाली के लालगंज निवासी विरेंद्र शर्मा की गिरफ्तारी के लिए पुलिस से मुख्यालय से मदद का अनुरोध किया है. दोनों के घरों पर इश्तेहार चिपकाया गया. पुलिस मुख्यालय की ओर से इन दोनों की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई शुरू कर दी गई है.

ये भी पढ़ें : तेज तर्रार आईपीएस अधिकारियों की टीम करेगी बिहार के सबसे बड़े लूटकांड की जांच

ये भी पढ़ें : बिहार में लूट को लेकर सतर्क हो गई पुलिस, मुंगेर में पुलिस टैक्सी की हो गई शुरुआत