मुंडेश्वरी धाम परिसर में बाउंड्री वाल के काम का विरोध, बसपा नेता के नेतृत्व में जमा हो गई दुकानदारों की भीड़

कैमूर/भभुआ (ब्रजेश दुबे) : जिले के भगवानपुर प्रखंड स्थित पवरा पहाड़ी पर विराजमान अति प्राचीन ऐतिहासिक मुंडेश्वरी धाम परिसर में वन विभाग द्वारा बाउंड्री वाल को खड़ा करने की प्लानिंग की भनक लगते ही आसपास के लोग सक्रिय हो गए. जिसका नेतृत्व बसपा नेता ओम प्रकाश पांडे उर्फ मुन्ना ने किया. मंगलवार को बसपा नेता के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में दुकानदारों एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं की भीड़ धाम परिसर में जुट गई. हालांकि इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी लोगों ने ख्याल रखा. एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर अपनी आवाज को बुलंद करने का फैसला लिया गया.

बसपा नेता ने कहा कि वन विभाग द्वारा कोई भी पहल तभी उठाया जाना चाहिए जब मुंडेश्वरी धाम में गठित न्यास परिषद एवं विकास परिषद के लोगों से वन विभाग के अधिकारी बात सुनिश्चित करेंगे. बसपा नेता ने दावा किया कि किसी भी कीमत पर ऐतिहासिक महत्व के धरोहर को नष्ट नहीं करने दिया जाएगा. इसके लिए जन आंदोलन भी करना हो तो हम पीछे नहीं हटेंगे. मुंडेश्वरी का यह पावन धाम देश- विदेश के लोगों के लिए भी आकर्षण का केंद्र है. यहां होने वाले धार्मिक आयोजन खासे चर्चा में रहते हैं. साथ ही ऐतिहासिक महत्व की दृष्टि से यह धाम लोगों के लिए आज भी खोज का विषय बना हुआ है. ऐसे धार्मिक तपोस्थली के स्वरूप को किसी भी कीमत पर बदलने नहीं दिया जाएगा. सभी लोगों ने एक स्वर से इस कदम की सराहना की.



बता दें कि ग्रामीण एवं दुकानदारों के एक जगह इकट्ठा होने के बाद वन विभाग के रेंजर अरुण कुमार से बसपा नेता ओम प्रकाश पांडे मुन्ना ने दूरभाष पर बात कर सभी बातों से अवगत कराते हुए कहा कि किसी भी कीमत पर बाउंड्री वाल का काम नहीं होगा. जबतक न्यास परिषद विकास परिषद तथा ग्रामीण जनता एवं दुकानदारों से वन विभाग बात नहीं करती हैं तबतक किसी भी कीमत पर काम नहीं होने दिया जाएगा. मौके पर पहुंचे बसपा नेता सहित समस्त दुकानदारों को आश्वस्त किया कि आप की मांग को ऊपर के अधिकारियों तक पहुंचाया जाएगा साथ ही मुंडेश्वरी धाम में गठित न्यास परिषद एवं विकास परिषद से बातचीत कर तभी बाउंड्री वाल के काम को आगे बढ़ाया जाएगा. यहीं नहीं वन विभाग के रेंज ऑफिसर ने बसपा नेता ओमप्रकाश पांडे मुन्ना से हुई दूरभाष पर बातचीत के दौरान कहा कि ऐसा कोई काम नहीं किया जाएगा जिससे दुकानदारों ग्रामीणों तथा धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचे मौके पर उपस्थित बेचन यादव, सुदर्शन यादव, शेरू माली, रामाशीष, विक्की माली, कल्लू, सुरेंद्र माली, सहित कई दुकानदार एवं सैकड़ों ग्रामीण जनता उपस्थित रहे.