छपरा पहुंचे पप्पू यादव, लड़कियों की शादी के लिए मदद का किया ऐलान, कहा-MP-MLA को पता नहीं दारू कहां मिलता है

लाइव सिटीज पटना: छपरा के मकेर में जहरीली शराब कांड में 11 लोगों की मौत से बिहार में हड़कंप मचा हुआ है. जहरीली शराब पीने से बड़ी संख्‍या में लोगों की मौत के बाद पूरा प्रशासनिक अमला सकते में है. लापरवाही को लेकर जिले के एसपी ने मकेर थानेदार नीरज मिश्रा एवं फुलवरिया भाथा के चौकीदार को सस्‍पेंड कर दिया है. दोषियों की धर-पकड़ के लिए ताबड़तोड़ छापेमारी की जा रही है. वहीं इस घटना पर राजनीति भी शुरु हो गई है. विपक्ष के द्वारा सरकार पर सवाल उठाया जा रहा है. वहीं सरकार की और से कार्रवाई की बात कही जा रही है. इस बीच जाप सुप्रीमो पप्पू यादव मकेर थाना क्षेत्र के भाथा नोनिया टोली पहुंचे और पीड़ित परिवारों से मुलाकात की और घटना के बारे में जानकारी ली. साथ ही पप्पू यादव ने आर्थिक मदद का ऐलान भी किया.

जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने छपरा जहरीली शराब कांड के पीड़ित परिवारों से मुलाकात की और आर्थिक मदद का ऐलान किया. उन्होंने कहा कि अभी हमने यहां मृतकों के परिजनों को 10-10 हजार रुपये की आर्थिक मदद की है, क्योंकि उनकी माली हालत ठीक नहीं है. वहीं और जो बच्ची है, उसकी शादी के लिए 25-25 हजार बच्ची को अलग से दिया जाएगा. इस मौके पर पप्पू यादव ने इस घटना के लिए नीतीश सरकार पर जमकर निशाना साधा. जाप सुप्रीमो ने कहा कि सरकार से मेरा सीधा सवाल यह है कि इसकी जिम्मेदारी किसकी है.

पप्पू यादव ने कहा कि सात सालों में इतनी बड़ी बड़ी घटनाएं घटी. कोई थानेदार जेल क्यों नहीं गया, कोई नेता जेल क्यों नहीं गया. उन्होंने नेताओं पर सवाल उठाते हुए कहा कि क्या सांसद और विधायक को पता नहीं दारू कहां मिलता है. पप्पू यादव ने कहा कि गुजरात मॉडल हो या बिहार, हर जगह जहरीली शराब से लोगों का मरना सरकार के शराबबंदी पर गंभीर सवाल खड़ा करता है. छपरा में जहरीली शराब पीने से 11 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है. आखिर कौन है इसका जिम्मेदार? सत्ता और विपक्ष दोनों से शराब माफिया को संरक्षण हासिल है. अधिकारी शराब बिकवा रहे हैं. तभी बिहार में शराब बंदी फेल हुई है.

बता दें कि बिहार के छपरा के मकेर में हुई जहरीली शराब कांड में मौतों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. मकेर थाना क्षेत्र के भाथा नोनिया टोली व भेल्दी थाना क्षेत्र के सोनहो भाथा गांव में जहरीली शराब पीने से अब तक 11 लोगों की मौत हो गई है. इनमें नौ की मौत पीएमसीएच में जबकि एक की मौत छपरा से पटना ले जाने के दौरान हो गई. वहीं एक अन्‍य की मौत छपरा में ही हो गई. इस घटना से पूरे बिहार में हड़कंप मचा है. लापरवाही को लेकर जिले के एसपी ने मकेर थानेदार नीरज मिश्रा एवं फुलवरिया भाथा के चौकीदार को सस्‍पेंड कर दिया है. दोषियों की धर-पकड़ के लिए ताबड़तोड़ छापेमारी की जा रही है. सारण के एसपी संतोष कुमार ने बताया कि पुलिस अभी तक 100 से ज्‍यादा लोगों को हिरासत में ले चुकी है. गिरफ्तारी के साथ ही बड़ी मात्रा में अवैध शराब भी बरामद की गई है.