चरम पर पहुंची #LiveCities की मुहिम, लोगों में गूंज रहा Clean Patna Smart Patna

पटना : लाइव सिटीज की मुहिम Clean Patna Smart Patna अब लोगों के दिलो दिमाग में छाने लगी है. पटनाइट्स अब स्मार्ट और डिजिटलाइजेशन की ओर बढ़ चले हैं. लाइव सिटीज की ओर से जगह-जगह पटना को स्वच्छ बनाने को लेकर चलाये जा रहे अभियान में लोग बढ़-चढ़ कर भाग ले रहे हैं और पूरा समर्थन दे रहे हैं. करीब तीन सप्ताह से चल रहे #CleanPatnaSmartPatna अभियान के साथ पटनाइट्स को स्वच्छता के प्रति जागरूक कर लाइव सिटीज अपने सामाजिक दायित्व का निर्वाहण कर रहा है. बिहार के नंबर वन वेब पॉर्टल होने की जिम्मेदारी निभाते हुए लाइव सिटीज मीडिया इस अभियान को घर-घर तक पहुंचा रही है.

इसे लेकर शहर के गली और चौराहों पर ‘लाइव सिटीज मीडिया’ नुक्कड़ नाटक का आयोजन करा रही है. नाटक के कलाकार अपने गाने ‘अब तो जागो जागो रे भाई…’ से लोगों में जोश पैदा कर दे रहे हैं. यह गाना पटनाइट्स की जुबान पर छा गया है. शनिवार को लाइव सिटीज की मुहिम का चौथा चरण था, जिसका शुभारंभ पटना के सगुना मोड़ के समीप हुआ और समापन आशियाना मोड़ पर हुआ.

सगुना मोड़ पर हुए इस कार्यक्रम में चीफ गेस्ट के रूप में स्कोलर्स अबोड स्कूल की डायरेक्टर डॉ. बी प्रियम, लाइव सिटीज के डायरेक्टर ज्ञानेश्वर समेत राकेश तिवारी मौजूद रहे. कार्यक्रम का उद्घाटन दीप प्रज्जवलित कर किया गया. मौके पर स्कोलर्स अबोड स्कूल की डायरेक्टर डॉ. बी प्रियम ने कहा कि यह हमारे लिए बहुत ही गर्व की बात है कि लाइव सिटीज शहर को स्मार्ट बनाने के लिए ऐसा सराहनीय प्रयास कर रहा है. मेरी ओर से लाइव सिटीज को इस मुहिम के लिए शुभकामनाएं हैं. इस अभियान को हमारा पूरा समर्थन है.

दीप प्रज्वलित करते वरिष्ठ पत्रकार ज्ञानेश्वर और स्कोलर्स अबोड की डायरेक्टर डॉ बी प्रियम

वहीं लाइव सिटीज के डायरेक्टर व वरीय पत्रकार ज्ञानेश्वर ने कहा कि लाइव सिटीज के द्वारा चलाई जा रही मुहिम स्वच्छ पटना स्मार्ट पटना का संदेश लोगों के बीच पहुंचने लगा है. लाइव सिटीज बिहार का नं. 1 न्यूज वेब पोर्टल है और हर महीने 2 करोड़ लोग इस पर खबरों को देखते हैं और पढ़ते हैं. हमारी ये मुहिम 2 करोड़ लोगों तक पहुंच रही है. ये सब डिजिटलाइजेशन के द्वारा संभव हो पा रहा है. हम चाहते हैं कि लोग पटना को स्वच्छ बनाने में हमारा समर्थन करें.

लाइव सिटीज द्वारा सम्मानित होते दानापुर आरपीएफ के सीनियर कमांडेंट चंद्रमोहन मिश्रा

उधर आशियाना मोड़ के पीलर नंबर 31-32 के निकट चौथे चरण का समापन समारोह हुआ. भीड़ को देखते हुए इस कार्यक्रम की लोकप्रियता का सहज अंदाजा लगाया जा सकता है. यहां कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में लाइव सिटीज के साथ दानापुर आरपीएफ के सीनियर कमांडेंट चंद्रमोहन मिश्रा जुड़े. उन्होंने दीप प्रज्जवलित कर समारोह का उद्घाटन किया. सीनियर कमांडेट चंद्रमोहन मिश्रा ने कहा कि इस कैंपेन के साथ जुड़कर उन्हें बहुत खुशी हो रही है. ये एक अनूठा कैंपेन है.

इसमें सभी पटनावासियों की भागिदारी अनिवार्य है. पटना में रहने के साथ हमारी भी जिम्मेदारी बनती है कि हम सब अपने आस-पास के एरिया को साफ-सुथरा रखें. इसके लिए जरूरी है कि न गंदगी फैलाए और न किसी को फैलाने दें. कूड़ा-कचरा को हमेशा कूड़ेदान में ही डालें. उन्होंने समारोह स्थल पर मौजूद लोगों को इसकी शपथ भी दिलाई. उन्होंने यह भी कहा कि पटना शहर को स्मार्ट सिटी में नंबर वन पर लाने के लिए वो हर मुमकिन कार्य करेंगे.

इसके बाद रंगश्री के कलाकारों ने इस नुक्कड़ नाटक के माध्यम से वैसे लोगों पर भी प्रहार किया, जो सफाई को अभी नजरअंदाज कर रहे हैं. कलाकरों ने आम जनजीवन की कार्यशैली को भी दिखाया. नुक्कड़ नाटक को देखने के लिए काफी संख्या में लोग जुटे थे. तालियों की गड़गड़ाहट से माहौल गूंज उठा. गौरतलब है कि लाइव सिटीज ने फेसबुक पर ‘हमारा सपना सुंदर पटना’ इवेंट भी क्रिएट किया है.

पटना के कोई भी व्यक्ति हमारे इस अभियान से जुड़ सकते हैं. लाइव सिटीज की इस मुहिम को पटना में शिक्षा और इंफ़्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के क्षेत्र में काम कर रहे कई संस्थानों का सहयोग मिल रहा है. इस मुहिम के मुख्य भागीदार APPL ग्रुप हैं. इनके साथ ही आशीर्वाद इंजीकॉन, अंशुल होम्स, सत्यमेव ग्रुप, जलालपुर सिटी के अलावा स्कॉलर्स एडोब स्कूल और Agispeed भी हमारे मुख्य सहयोगी हैं. पटना के एक्जीबिशन रोड स्थित बिग बाजार कैंपस में हमारे अभियान का समापन होगा.

About Aditya Narayan 243 Articles
हम हैं आदित्य. फैन हैं. किसी आम इंसान के नहीं. भगवान के. वो भी ऐसे-वैसे भगवान नहीं. देवों के देव महादेव के. उनके जो इस सृष्टि के संचालक हैं. हां हम धार्मिक आदमी हैं. भगवान को मानते हैं. बम भोले-बम भोले का जाप करते हैं. कर्मठ व्यक्ति हैं. श्रम का महत्व समझते हैं. इसलिए उसे बचाकर खर्च करते हैं. देखने में ठीक-ठाक है. पर फिर भी खराब दिखते है. ये सखी कहती है. बाकी हमारी जिंदगी का एक्कै मकसद है. उस चीज को पाना, जिसे पाना मुश्किल हो. कहने को लाइफस्टाइल जर्नलिस्ट है. फेसबुक पर प्रेम और फूड पर बहुत लिखते हैं. मगर जब कोई इनबॉक्स में आकर कहता है, आप अच्छा लिखते हैं. तो शर्माकर नीले हो जाते हैं. क्योंकि शिव का रंग भी, तो नीला ही है. बाकी की जानकारी मुझसे मिलकर ही पता की जा सकती है. हां मुझे समझने में आपको परेशानी हो सकती है. लेकिन ये मेरी नहीं आपकी दिक्कत है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*