पाटलिपुत्रा महोत्सव में दिखेंगे कई रंग, देशी-विदेशी कंपनियां भी दिखाएंगी युवाओं को रास्ता

लाइव सिटीज डेस्क :  पटना के मिलर हाईस्कूल ग्राउंड में 26 दिसंबर से पाटलिपुत्रा महोत्सव का आयोजन किया जाएगा. बिहार में पहली बार इस तरह का महोत्सव का आयोजन हो रहा है. पाटलिपुत्रा महोत्सव का आयोजन बिहार के उद्यमियों, महिलाओं और युवाओं को सशक्त बनाने के लिए किया जा रहा है. जदयू इंडस्ट्री सेल की ओर 26 दिसंबर से 1 जनवरी तक चलनेवाले इस महोत्सव में शहर के लोगों के लिए बहुत कुछ नया होगा. मिलर हाईस्कूल ग्राउंड में पाटलिपुत्रा महोत्सव की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं. महोत्सव में करीब 250 से 300 स्टॉल लगाए जाएंगे. इनमें बिहार के स्टार्टअप से लेकर, महिला उद्यमियों के स्टॉल, फूड स्टॉल, हैंडलूम स्टॉल एवं विभिन्न उत्पादों के स्टॉल्स सजेंगे. इन स्टॉल्स पर सभी प्रोडक्ट्स और उनसे जुड़ी जानकारियां दी जाएंगी.

सरकारी योजनाओं को किया जाएगा प्रोमोट



पाटलिपुत्रा महोत्सव 2017 का आयोजन का मकसद राज्य सरकार द्वारा चलाये जा रहे स्किम और कार्यक्रमों से उद्यमियों व लोगों को अवगत कराना है. इस महोत्सव में शराबबंदी, दहेजबंदी, बाल विवाह, स्वच्छता मिशन, वीमेन इंपावरमेंट, स्किल इंडिया और स्टार्टअप इंडिया जैसे विषयों पर सात दिनों तक कार्यशाला लगेगी. खासकर महोत्सव में महिलाओं और युवाओं के लिए बहुत कुछ स्पेशल होगा. मुख्यमंत्री की ओर से चलायी जा रही योजनाओं को आगे बढ़ाने का कार्य किया जाएगा. महिलाओं को नए स्किल्स सिखाए जाएंगे, जिससे कि वो आत्मनिर्भर बन सकें. इसके साथ ही वैसे युवाओं को भी प्रोत्साहित किया जाएगा, जो अपने आपको एक सफल उद्यमी बनाना चाहते है.

जोर-शोर से चल रही है तैयारी

वीर चंद पटेल मार्ग में स्थित मिलर हाईस्कूल में पाटलिपुत्रा महोत्सव की तैयारी तेजी से चल रही है. यूं कहें कि तैयारी लास्ट स्टेज में है. महोत्सव का थीम बिहार पर आधारित है, इसलिए बिहार की झलक आपको यहां खूब देखने को मिलेगी. बड़े हॉल को तैयार किया गया है. वहीं कैमूर से कई लोकल कलाकार समारोह को शानदार बनाने में अपनी भागीदारी देने के लिए दिन-रात काम कर रहे हैं. महोत्सव में थर्मोकॉल से भगवान बुद्ध की बड़ी प्रतिमा का निर्माण हो रहा है. साथ ही बिहार की लोक कला की तस्वीरें और पेंटिंग्स भी देखने को मिलेगी.

देशी-विदेशी कंपनियां भी होंगी शामिल

जदयू उद्योग प्रकोष्ठ के अध्यक्ष संजय खंडेलिया ने बताया कि 26 दिसंबर से शुरू हो रहे पाटलिपुत्रा महोत्सव का आयोजन उद्यमियों की सहायता के लिए किया जा रहा है. कई विदेशी कंपनियों के साथ देशी कंपनियां भी इसका हिस्सा बनेंगी. आईटी सेक्टर की कई बड़ी कंपनियां महोत्सव में भाग लेने के लिए काफी दिलचस्पी दिखाई हैं. इससे बिहार में आईटी हब बनने का मार्ग प्रशस्त हो गया है.