पाटलिपुत्रा महोत्सव शुरू : पहले दिन से ही जुटने लगे पटनाइट्स, कलाकारों ने भी मन मोहा

लाइव सिटीज पटना : पटना में पाटलिपुत्रा महोत्सव शुरू हो गया. मंगलवार को इसका विधिवत उद्घाटन मिलर हाईस्कूल ग्राउंड में हो गया. महोत्सव के पहले दिन कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया. महोत्सव की शुरुआत जदयू सांसद आरसीपी सिंह ने दीप प्रज्वलित कर की. बिहार में पहली बार हो रहे पाटलिपुत्रा महोत्सव में सब कुछ नया है. सात दिनों तक यहां हर रोज कई तरह के रंगारंग प्रस्तुति होगी. वहीं कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक से सोशल मैसेज भी दिया. पाटलिपुत्रा महोत्सव का मेन मकसद है कि बिहार की विश्व पटल पर खास पहचान बने.

‘पालकी-पालना’ ने लोगों को जगाया



पालकी पालना नुक्कड नाटक करते हज्जू म्युजिकल थियेटर ग्रुप के कलाकार

आज हमारा समाज लड़कियों और महिलाओं के प्रति बहुत उदार होने की बात करता है. लेकिन अब भी एक तबका ऐसा है, जो महिलाओं को सशक्त करना जरूरी नहीं समझता. इसका उदाहरण समाज में हो रही भ्रूण हत्या, बाल विवाह, दहेज प्रथा जैसी समस्याएं हैं, जिन पर अब भी काम करने की आवश्यकता है. इन्ही सब कुरीतियों को दूर करने के लिए पाटलिपुत्रा महोत्सव में हर रोज नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया जाना है. हज्जू म्युजिकल थियेटर ग्रुप ने आज पहले दिन बाल विवाह पर अपनी प्रस्तुति दी. थियेटर ग्रुप ने ‘पालकी-पालना’ नुक्कड़ नाटक से समाज में फैले बाल विवाह की कुरीति को उजागर करने का प्रयास किया.

आरसीपी सिंह ने किया उद्घाटन

पाटलिपुत्रा महोत्सव का उदघाटन करते जदयू सांसद आरसीपी सिंह

महोत्सव का उद्घाटन जदयू सांसद आरसीपी सिंह ने दीप प्रज्वलित कर किया. उन्होंने कहा कि इस तरह के महोत्सव का आयोजन बिहार में पहली बार हो रहा है. इससे बिहार के युवा उद्यमियों को एक नया प्लेटफॉर्म मिलेगा. साथ ही बिहार की लोक कला व संस्कृति को दुनिया और नजदीक से जानेगी. बिहार में उद्योग की संभावनाओं के साथ रोजगार भी बढ़ेगा. महोत्सव में आए सभी लोगों का सांसद आरसीपी सिंह ने स्वागत किया.

ब्रांड बिहार के बारे में दुनिया है बताना.

पाटलिपुत्रा महोत्सव में जदयू सांसद आरसीपी सिंह एवं जदयू इंडस्ट्री सेल के प्रदेश अध्यक्ष संजय खंडेलिया, प्रदेश उपाध्यक्ष विक्रम बंका और राजीव अग्रवाल.

प्रोग्राम में जदयू उद्योग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष संजय़ खंडेलिया ने पटनाइट्स का महोत्सव में शामिल होने के लिए शुक्रिया किया. उन्होंने कहा कि पाटलिपुत्रा महोत्सव का आयोजन करके ब्रांड बिहार के बारे में दुनिया को बताना है. यहां के अनएक्सप्लोर्ड पर्यटन स्थल, लोक संगीत, रीजनल फूड, आर्ट क्राफ्ट के प्रचार-प्रसार पर काम होगा. 1 जनवरी तक चलनेवाले इस महोत्सव में हर रोज सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति होगी. साथ ही लोगों को सामाजिक मुद्दों पर शॉर्ट फिल्मों के माध्यम से भी जागरूक किया जाएगा.