पटना: गौरव कुमार द्वारा लिखित पुस्तक ‘शासन से सुशासन की ओर’ का हुआ लोकार्पण

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: गौरव कुमार द्वारा लिखित पुस्तक ‘शासन से सुशासन की ओर’ का दिनांक 9 अगस्त 2019 को रोटरी भवन, पटना में लोकार्पण किया गया.इस अवसर पर एक परिचर्चा का आयोजन भी किया गया है जिसमें मुख्य वक्ता के रुप में जे पी विश्वविद्यालय छपरा के कुलपति प्रो. हरिकेश सिंह, से.नि. प्रो शैलेश्वर शती प्रसाद, वरिष्ठ पत्रकार स्वयं प्रकाश, रोटरी क्लब पटना के अध्यक्षा डॉ नीना कुमार,आन्ध्रा बैन्क के मुख्य प्रबंधक विशाल मिश्रा और चंदन शर्मा सहित प्रदेश के प्रसिद्ध शिक्षाविद्व,पत्रकार और बुद्धिजीवी रहे. कार्यक्रम का संचालन शिक्षाविद् और लेखक डॉक्टर कुमार विमलेंदु सिंह ने किया.कार्यक्रम के प्रायोजक आन्ध्रा बैन्क था। ने किया तथा आयोजन ब्लू बक पब्लिकेशन्स ने किया.

उल्लेखनीय है कि पुस्तक के लेखक श्री गौरव कुमार बिहार प्रदेश के चंपारण क्षेत्र के रामगढ़वा मौजे ग्राम निवासी हैं.उनकी पुस्तक का विमोचन महामहिम उप राष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडू द्वारा विगत 9 जुलाई को दिल्ली में किया जा चुका है,किन्तु बिहार प्रदेश से गहरा लगाव होने के कारण यह आयोजन पटना में किया गया है. यह आयोजन बिहार के लिए गर्व का विषय है और सौभाग्यशाली क्षण है.

इस अवसर पर कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए श्री गौरव कुमार ने बताया कि यह पुस्तक देश में शासन के बदलते स्वरुप पर प्रकाश डालती है, जिसमें यह दर्शाया गया है कि आधुनिक लोकतंत्र और सभ्य समाज में शासन का तात्पर्य क्या होता है. देश के शासन व्यवस्था का जो स्वरुप ब्रिटिश काल में था वह किस प्रकार धीरे धीरे बदला और भारतीय जनता पार्टी की सरकार केंद्र में आने के बाद विगत पांच वर्षों में शासन कैसे सुशासन के रूप में परिवर्तित हुआ है.

उन्होने बताया कि‘शासन से सुशासन की ओर’ पुस्तक 2014 में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद देश में शासन व्यवस्था का सुशासन के रूप में बदलते स्वरूपों पर प्रकाश डालती है, जिसमें सत्ता पक्ष के साथ समाज और नागरिक भागीदारी से जुड़े सभी आयाम शामिल किए गए हैं. श्री गौरव कुमार ने अपनी इस पुस्तक में सुशासन से जुड़े सभी आयामों को शामिल किया है और सुशासन के भविष्य की बात भी की है, जिसमें उन्होंने कुछ चुनौतियों का ज़िक्र करते हुए उनके समाधान का रास्ता सुझाया है. मुख्य रुप से ‘शासन से सुशासन की ओर’ पुस्तक में श्री गौरव कुमार ने अपने अनुभवों को भी साझा किया है जो उन्होंने केन्द्र और राज्य सरकारों के साथ काम करने के दौरान सीखा और समझा है.

गौरतलब है कि श्री गौरव कुमार विगत पांच वर्षों से केंद्र और राज्य सरकारों में लोकनीति विशेषज्ञ के तौर पर नीति निर्माण प्रक्रिया और क्रियान्यवयन पर बेहतरीन काम कर रहे हैं. उन्होंने विगत वर्ष हरियाणा में सुशासन लाने की दिशा में काफी कुछ काम किया था जिसने शासन में पारदर्शिता और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने में काफी मदद मिली थी. इस उपलब्धि के लिए उन्हें क्वालिटी काउंसिल ऑफ़ इंडिया तथा विजन इंडिया फाउन्डेशन द्वारा यंग अचीवर अवार्ड दिया गया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*