पटना: लीवर फटने के कगार पर था, मगध अस्पताल के डॉक्टरों ने जटिल सर्जरी कर बचाई मरीज की जान

लाइव सिटीज पटना: पटना के मगध अस्पताल के डॉक्टरों ने शनिवार को एक जटिल सर्जरी कर मरीज की जान बचाने में कामयाबी हासिल की है. पटना के फुलवारी शरीफ निवासी 65 वर्षीय मरीज मो. मोइजुद्दीन के लीवर में तीन हाइडेटिड सिस्ट थे. जिससे लीवर दो तिहाई तक गल चुका था और एक सिस्ट में ढाई लीटर फ्लूड, दूसरे में 200 एमएल और तीसरे में 100 एमएल फ्लूड भरा था. यह अब फटने ही वाला था और फट जाने की स्थिति में मरीज की तुरंत उसी समय जान जा सकती थी. यहां तक कि ऑपरेशन के समय भी अगर फ्लूड किसी अंग के संपर्क में आ जाता तो उस अंग को नुकसान पहुंच सकता था.

इस जटिल सर्जरी को मगध अस्पताल के चिकित्सक डॉ शशिधर कुमार प्रसाद के नेतृत्व में तीन डॉक्टरों की टीम ने ढ़ाई घंटे में सफलतापूर्वक किया है. उनके साथ एनिस्थिसिया से डॉ प्रशांत गुप्ता और कार्डियोलॉजी से डॉ अभिषेक सर्जरी में शामिल रहे. इस सर्जरी के बारे में जानकारी देते हुए डॉ शशिधर कुमार प्रसाद ने बताया कि पिछले दिनों मरीज पेट, छाती में लंबे समय से दर्द, बुखार, पेट, चेहरे और पैर में सूजन की शिकायत लेकर आया था. जांच के बाद उसके लीवर में हाइडेटिड सिस्ट पाया गया. इस केस में मरीज की जान बचाने के लिए तुरंत सर्जरी आवश्यक थी. उसका लीवर फटने के कगार पर पहुंच गया था. मरीज को सांस लेने में भी परेशानी हो रही थी. क्योंकि लीवर का यह सिस्ट इतना बड़ा हो चुका था कि लंग्स के काम में भी बाधा पहुंचा रहा था.

मरीज की स्थिति को देखते हुए ओपन सर्जरी की गई है और अब मरीज ठीक है. जल्द ही उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी जायेगी. डॉ शशिधर कुमार प्रसाद बताते हैं कि हाइडेटिड सिस्ट की बीमारी कुत्ते के मल में मौजूद परजीवी के संपर्क में आने से होती है. अगर यह किसी रूप में इंसान के खान-पान में मिल जाए तो इंसान को यह बीमारी हो सकती है. यह लीवर के अलावा अन्य अंगों में भी हो सकती है. ऐसे में कुत्ते को छूने के बाद हाथ धोएं. कुत्ते को पालते हैं तो साफ सफाई रखें.

डॉ शशिधर कुमार प्रसाद बताते हैं कि बाहर का गंदी जगहों या खुली जगह का खाना नहीं खाएं. यह बेहद जटिल बीमारी है जो लीवर में होने के बाद उसे गलाने लगती है. इलाज में देरी होने पर मरीज की मौत हो जाती है. वहीं मगध अस्पताल के निदेशक डॉ मुकेश कुमार ने बताया कि हमारे अस्पताल में बीमारियों का आधुनिक तकनीक से बेहतर इलाज उपलब्ध है. मगध अस्पताल किफायती दर पर मरीजों का इलाज कर रहा है. यहां अनुभवी चिकित्सकों की टीम मौजूद है. उन्होंने इस जटिल सर्जरी को करने वाले डॉक्टरों को बधाई दी है.