पटना: महागठबंधन का एलान-13 नवंबर को सरकार के खिलाफ करेंगे हल्ला बोल

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में एक तरफ जहां महागठबंधन में टूट की खबर काफी चर्चा में हैं, वहीं राजधानी पटना में महागठबंधन और वामदल के तरफ से संयुक्त रूप से प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया. इस दौरान महागठबंधन ने एलान किया कि 13 नवंबर को सरकार के खिलाफ हल्ला बोलेंगे. मीडिया को संबोधित करते हुए रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि इसको लेकर तैयारी पूरी हो चुकी है.

रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार के तमाम जिला मुख्यालयों पर सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन करेंगे. उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों और नाकामियों को लेकर महागठबंधन के तमाम नेता सड़क पर उतरेंगे और सरकार को उखाड़ फेंकने का प्रण लेंगे. उन्होंने कहा कि इस बात का ऐलान हमने लोहिया जी के पुण्यतिथि के अवसर पर बापू सभागार में पहले ही कर दिया था.

रूठे मांझी को मनाने की कोशिश 

महागठबंधन से नाराज हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने ऐलान कर दिया है कि अब उनकी पार्टी विधानसभा चुनाव में अकेले मैदान में उतरेगी. मांझी के इस ऐलान के बाद अब महागठबंधन के नेताओं ने प्रतिक्रिया देनी शुरू कर दी है. इसको लेकर कांग्रेस नेता व राज्य सभा सांसद अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा है कि उन्होंने जो कुछ भी कहा है वो आक्रोश में कहा है. कांग्रेस नेता ने कहा कि मेरी बात हुई है उनसे, वो कॉर्डिनेशन कमिटी बने.

आपको बता दें कि हम के मुखिया जीतनराम मांझी ने एलान करते हुए कहा कि महागठबंधन में उन्हें उचित सम्मान नहीं मिला जिसके वे हकदार थे. उन्होंने कहा कि महागठबंधन में सभी सहयोगी दलों के द्वारा दिए गये सुझाव को भी नहीं माना जाता है, ऐसे में महागठबंधन के साथ रहना संभव नहीं है.