पटना में कैंसर पीड़ित को रोजा तोड़कर दिया खून, कहा – इससे अल्लाह ज्यादा खुश होंगे

PATNA-BLOOD-DONATE

लाइव सिटीज, पटना से अजीत यादव : आज गुरुवार 31 मई को पूरी दुनिया ‘नो कैंसर डे’ मना रही है. ऐसे में अगर कैंसर के मरीज को रक्तदान की जरूरत पड़े और रोजा तोड़कर रक्तदान करना पड़े तो यह दिन कैंसर अवेयरनेस के प्रति और भी प्रेरक हो जाता है. ऐसा ही मामला पटना में देखने को मिला जहां बेउर के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंडरिसर्च के दो छात्रों ने महावीर कैंसर संस्थान जाकर रक्तदान किया. रक्तदान के लिए दोनों को रोजा तोड़ना पड़ा, जिसका जरा भी मलाल उन्हें नहीं है.

रोजा तोड़कर रक्तदान करने वाले छात्र मो. नईम अख्तर ने कहा कि अल्लाह से इससे ज्यादा चाहत और बंदगी क्या होगी, जो मौत के मुंह में जा रहे एक बंदे के लिए जिंदगी की रौशनी दिखा जाए. रोजा जरूरतमंदों की हर सम्भव मदद करने और उनकी जरूरतों को पूरा करने का जज़्बा पैदा कराता है. नईम ने कहा कि उसने एक जरूरतमंद कैंसर पीड़ित की मदद खून देकर किया है, इससे अल्लाहताला ज्यादा खुश होंगे.

PATNA-CANCER

संस्थान के निदेशक अनिल सुलभ ने दी बधाई

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंड रिसर्च के निदेशक डॉ. अनिल सुलभ ने कहा कि समाज में एक ओर जहां चंद रुपयों की ख़ातिर किसी का ख़ून कर देने वाले हैवान दिखाई देते हैं. वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो किसी की ज़िंदगी बचाने के लिए अपना ख़ून भी देने को तैयार रहते हैं. उन्होंने बताया कि नईम ने महावीर कैंसर संस्थान, अनीसाबाद में कैंसर से पीड़ित मरीज़ मो. नियामत अली, जो सुपौल के रहनेवाले हैं, को अपना रोज़ा तोड़कर ख़ून दिया. उसके साथ अभिजीत सावंत नामक एक और युवक ने भी नियामत को अपना रक्त दिया. ये स्टूडेंट्स उनके संस्थान के हैं, यह उनके लिए दोहरी खुशी की बात है. उन्होंने दोनों को इस काम के लिए बधाई भी दी.

 

रक्तदान करने वाले ये दोनों ही नवयुवक इंडियन इंस्टिच्युट ऑफ़ हेल्थ एजुकेशन एंड रिसर्च, बेउर, पटना के बैचलर ऑफ फ़िज़ियोथेरापी के छात्र हैं. दोनों, ‘बिहार ब्लड-डोनर’ टीम से भी सम्बद्ध हैं. डॉ. सुलभ के अनुसार उनके संस्थान के छात्र-छात्राओं ने रक्तदान के इस पुण्य कार्य को संस्थागत रूप देते हुए, एक रक्तदाता समूह बना रखा है. वे सूचना मिलते ही रक्तदान के लिए उपस्थित हो जाते हैं. आज रक्तदान के समय इस समूह के अन्य सदस्य तारिक अज़ीज़, कुमार उमाकांत, समद अंसारी तथा मो. वसीम भी उपस्थित थे.

देखिए, बिहारबुलेटिन में 31 मई की बिहार की टॉप-10 खबरें अंकिता के साथ…

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*