सोच में पुलिस : इनकम का सोर्स नहीं, तो कैसे मनीषा दयाल ने खरीद ली विधायक की पजेरो?

MANISHA
NGO का सचिव चिरंतन और मनीषा दयाल (फोटो : फेसबुक)

लाइव सिटीज, पटना : तीन दिनों की पुलिस रिमांड के दौरान अनुमाया ह्युमन रिसोर्सेज फाउंडेशन की डायरेक्टर मनीषा दयाल और चिरंतन से कई सवाल पूछे गए थे. उसी दौरान पुलिस टीम ने हाई सोसाइटी मेंटेंन करने वाली मनीषा दयाल से उसके इनकम का सोर्स पूछा था. इस सवाल का जवाब पुलिस ने चौंकाने वाला दिया है. पुलिस सोर्स की मानें तो मनीषा दयाल ने साफ तौर पर कहा कि उसके इनकम का कोई सोर्स नहीं है. इसके जवाब से आसरा होम मामले की जांच कर रहे पुलिस टीम भी अब सोच में पड़ गई है.

अब सवाल ये उठ रहा है कि जब इनकम का कोई सोर्स नहीं है तो फिर कांग्रेस विधायक अमित कुमार टुन्ना की लग्जरी पजेरो गाड़ी खरीदने के लिए रुपए कहां से आए? वो भी उस वक्त जब इसी साल के अप्रैल महीने में राजीव नगर में आसरा होम खोला गया था. आसरा होम खोले जाने के महज 10 दिन बाद ही मनीषा दयाल ने विधायक की पजेरो गाड़ी खरीदी थी.

सवाल ये भी उठ रहा है कि जब इनकम का कोई जरिया नहीं था, तो हाई सोसायटी के लोगों के बीच में उठना—बैठना और पार्टी आॅर्गनाइज करने के लिए रुपए कहां से आते थे? मनीषा दयाल के दिए जवाब के बाद से उठ रहे हर एक सवाल का जवाब तलाशने के लिए पुलिस टीम कई प्वाइंट पर जांच कर रही है.

बेटा के सामने खंगाला जाएगा OLX अकाउंट

रिमांड के दौरान भी मनीषा दयाल अपनी शातिरगिरी से बाज नहीं आईं. पुलिस के सवालों के दिए उल्टे—सीधे जवाब के फेर में वो खुद फंस गई हैं. विधायक की पजेरो गाड़ी खरीदने को लेकर जब दूसरा सवाल पूछा गया था तो उसके जवाब भी आश्चर्य वाले निकले. मनीषा दयाल ने पुलिस से कहा कि OLX के जरिए उसने विधायक की पजेरो गाड़ी खरीदी है. अब पुलिस टीम मनीषा दयाल के OLX अकाउंट को खंगालेगी. इसके लिए जल्द ही उसके बेटे को बुलाया जाएगा. बेटे के सामने ही OLX अकाउंट के जरिए विधायक से हुए गाड़ी के डील की जांच की जाएगी.

जल्द होगी विधायक से पूछताछ

कांग्रेस के विधायक मनीषा दयाल को कैसे और कब से जानते हैं? पजेरो गाड़ी की डील कैसे हुई थी? एक रुपए का रेवेन्यू स्टाम्प लगाकर गाड़ी की डील क्यों की? कहीं इसके पीछे की कोई और वजह तो नहीं थी? इस तरह के कई ऐसे सवाल हैं, जिनका जवाब जानने के लिए पटना पुलिस की टीम जल्द ही विधायक अमित कुमार टुन्ना के पास पहुंचेगी. उनसे पूरे मामले पर पूछताछ करेगी. पटना पुलिस के अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है.

विधायक से उनके ड्राइवर के बारे में भी पूछा जाएगा. क्योंकि मनीषा दयाल ने पुलिस के सवालों का जवाब देते हुए बताया था कि विधायक का ड्राइवर एसएम विला अपार्टमेंट के ही उपर के फ्लैट में रहता है.

खंगाले जा रहे हैं एक—दो नहीं, बल्कि 6 अकाउंट

जांच के दौरान पटना पुलिस को अब तक कुल 6 बैंक अकाउंट का डिटेल मिला है. इसमें मनीषा दयाल के दो, चिरतंन कुमार के दो और एनजीओ अनुमाया ह्युमेन रिसोर्सेज फाउंडेशन के नाम से दो बैंक अकाउंट्स शामिल हैं. इलाहाबाद और एक्सिस बैंक में मनीषा दयाल के अकाउंट हैं. जबकि कोटक महिंद्रा बैंक में एनजीओ के नाम का एक अकाउंट है. जबकि दूसरा अकाउंट एक अन्य बैंक में है.

पुलिस टीम ने हर एक अकाउंट का डिटेल्स निकाल लिया है. पुलिस अधिकारी की मानें तो जांच टीम मनीषा दयाल के पति जीवन वर्मा के बैंक अकाउंट्स का भी डिटेल खंगाल रही है. इन सभी के बैंक अकाउंट्स को खंगालने के लिए पुलिस टीम ने पैन और आधार कार्ड नंबर का सहारा लिया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*