पटना के बिल्डर्स के खिलाफ फिर चलेगा आॅपरेशन, धोखाधड़ी और रंगदारी पर छोड़ेगी नहीं पुलिस

DIG RAJESH KUMAR, डीआईजी राजेश कुमार, पटना, PATNA NEWS, Patna News, Bihar News, khabar bihar, bihar khabar, हिंदी बिहार न्यूज़, बिहार खबर, Bihar, बिहार, Patna, पटना , पटना न्यूज़, बिहार न्यूज़, न्यूज़, livecities, Bihar Samachar, Patna Samachar, बिहार समाचार, पटना समाचार, हिंदी समाचार,

लाइव सिटीज, पटना : पब्लिक से लाखों रुपए लेकर उन्हें फ्लैट न देने वाले और जबरन अपनी मनमानी करने वाले राजधानी के बिल्डर्स एक बार फिर से पुलिस के रडार पर हैं. पब्लिक के साथ धोखाधड़ी करने वाले बिल्डर्स की अब खैर नहीं है. उनके खिलाफ जल्द ही एक बड़ा आॅपरेशन शुरू होने जा रहा है. आपॅरेशन के तहत जिस बिल्डर के खिलाफ धोखाधड़ी और रंगदारी के मामले सामने आएंगे, उस पर लगे आरोपों की जांच कर पुलिस सख्ती से कार्रवाई करेगी.

पुलिस की रणनीति है कि बिल्डर्स की दबंगई से परेशान पब्लिक को राहत पहुंचाई जाए और उन्हें उनका हक दिलाया जाए. पटना में बिल्डर्स के खिलाफ चलाए जाने वाले आॅपरेशन को लेकर सेंट्रल रेंज के डीआईजी राजेश कुमार की तरफ से निर्देश जारी किए गए हैं.

पटना के गर्ल्स स्कूल-कॉलेज खुद घूमेंगे DIG राजेश कुमार, लड़कियों से जानेंगे परेशानियां

इस तरह से होगी कार्रवाई

अब तक यही होता रहा है कि बिल्डर्स की दबंगई और उनकी मनमानियों से परेशान होकर लोग थाना जाकर अपनी कंप्लेन करते हैं. पहले तो थाना से ही पुलिस वाले उन्हें भगा दिया करते हैं और उनकी कंप्लेन नहीं लेते हैं. अगर कंप्लेन लेते भी हैं तो महज खानापूर्ति के लिए एफआईआर दर्ज कर लेते हैं. लेकिन उसके बाद आरोपी बिल्डर्स के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती है. इस तरह की स्थिति अब सामने न आए, इसलिए अब कार्रवाई के तरीके में ही बदलाव करने की तैयारी है.

दरअसल, सेंट्रल रेंज के डीआईजी राजेश कुमार एक सिंगल विंडो सिस्टम की स्थापना करवाने जा रहे हैं. जो सीधे पटना के तीनों सिटी एसपी के अंडर में होगा. हर एक सिटी एसपी के लेवल पर एक सिंगल विंडो सिस्टम काम करेगा. रुपए लेकर फ्लैट नहीं देने वाले और जबरन अपनी मनमर्जियों को थोपने वाले बिल्डर्स या फिर जमीन के लफड़ों से परेशान लोग सीधे सिंगल विंडो सिस्टम पर अपनी कंप्लेन करेंगे. फिर वो कंप्लेन संबंधित एसडीपीओ व थाना को भेजी जाएगी.

इसके बाद थाने की टीम को आरोपों की जांच कर हर हाल में कार्रवाई करनी होगी. सभी सिटी एसपी लगातार इसकी मॉनिटरिंग करेंगे. यहां तक की खुद डीआईजी भी सिंगल विंडो सिस्टम पर आने वाले मामलों का रिव्यू करेंगे. डीआईजी के अनुसार सिंगल विंडो सिस्टम के लिए हर सिटी एसपी के अंदर में दो डीएसपी और दो इंस्पेक्टर भी काम करेंगे.

कार्रवाई के लिए तैयार हो रही है लिस्ट

सिंगल विंडो सिस्टम के अलावे पुलिस एक और लिस्ट तैयार कर रही है. वो लिस्ट है पटना के थानों में दर्ज बिल्डर्स के खिलाफ एफआईआर की. लिस्ट तैयार होने के बाद डीआईजी हर एक केस का रिव्यू करेंगे. उसके बाद जिन मामलों में किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई है, उन मामलों में कार्रवाई होगी. अगर मामला किसी बिल्डर की गिरफ्तारी का होगा तो उसे पुलिस टीम पकड़ेगी भी.

असल में डीआईजी ने बिल्डर्स की बढ़ते मनमर्जियों पर कानूनी शिकंजा कसने की ठान ली है. इसके पीछे की एक बड़ी वजह भी है. पिछले कुछ दिनों में परेशान कई लोगों ने डीआईजी से मुलाकात की थी. मिलने वाले हर लोग परेशान थे. उनसे रुपए तो ले लिए गए, लेकिन बिल्डर ने उन्हें उनका फ्लैट नहीं अब तक नहीं सौंपा. अपना हक पाने के लिए परेशान लोग लगातार इधर—उधर घूम रहे हैं.

इस तरह के मामलों से निपटने के लिए ही सेंट्रल रेंज के डीआईजी नई कवायद को अंजाम देने जा रहे हैं. डीआईजी का कहना है कि कुछ ऐसे भी मामले हैं, जिसे नगर निगम और रेरा को भी कार्रवाई के लिए भेजा जाएगा.

About Amit Jaiswal 1004 Articles
पटना में क्राइम की हर खबरों पर होती है पैनी नजर

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*