सेना के गायब कंसाइनमेंट के लिए ज्वाइंट आॅपरेशन, पटना साहिब से मोकामा तक दर्जन भर रेड

HIMGIRI11
प्रतीकात्मक फोटो

पटना : चलती ट्रेन से सेना का एक बड़ा कंसाइनमेंट गायब हो गया है. गायब हुए कंसाइनमेंट में 8 किलो एक्सप्लोसिव फ्यूज था. जब से सेना का कंसाइनमेंट चोरी होने की बात सामने आई है, तब से हर तरफ हड़कंप मच गया है. चोरी की वारदात बुधवार की देर रात की है. लेकिन मामला सामने तब आया, जब ट्रेन हावड़ा पहुंची. मामला जम्मू-तवी से हावड़ा जा रही 12332 डाउन हिमगिरी एक्सप्रेस का है. इस ट्रेन के फ्रंट एसएलआर बोगी में एक्सप्लोसिव फ्यूज को पठान कोट में बुक किया गया था. देखरेख और एस्कॉर्ट के लिए सेना के एक लांस नायक के साथ ही दो लोगों की टीम भी इसी ट्रेन में सफर कर रही थी.

ट्रेन के पटना जंक्शन तक पहुंचने में सब कुछ सही था. खुद लांस नायक ने पटना स्टेशन पर एसएलआर बोगी को चेक भी किया था. लेकिन गुरुवार की सुबह जब ट्रेन हावड़ा स्टेशन पर पहुंची तो सभी के होश उड़ गए. बोगी का एक हिस्सा टूटा हुआ मिला. बोगी के अंदर से सेना का कंसाइनमेंट गायब था. चोरी की बात सामने आते ही हावड़ा स्टेशन पर हड़कंप मच गया. मामले की जानकारी तुरंत वहां के रेल पुलिस को दी गई. ट्रेन से आर्मी का गोला-बारूद गायब, पटना से मोकामा के बीच का मामला

पटना साहिब से मोकामा के बीच चोरी होने का है शक

फ्रंट एसएलआर की बोगी इंजन के ठीक पीछे होती है. बोगी का एक हिस्सा तोड़कर चलती ट्रेन से कंसाइनमेंट कब गायब हुआ. ये किसी को पता नहीं है. ट्रेन का एक स्टॉपेज मोकामा के पहले बख्तियारपुर में भी है. इसलिए यह संभावना ज्यादा है कि यहीं घटना को अंजाम दिया गया हो सकता है. हावड़ा रेल थाना में सेना के लांस नायक ने एक कंप्लेन दर्ज कराया है. जिसमें उन्होंने पटना साहिब और मोकामा रेलवे स्टेशन के बीच कंसाइनमेंट के चोरी होने की आशंका जाहिर की है. मिली जानकारी के अनुसार हावड़ा पहुंचने के बाद इस कंसाइनमेंट को ओड़िसा के बालासोर ले जाया जा रहा था. बताया जाता है कि गायब कंसाइनमेंट आउटडेटेड हो गए थे. उन्हें डिस्ट्रॉय करने के लिए ले जाया जा रहा था.

इस मामले पर यहां क्लिक कर और पढ़ें

RPF- रेल पुलिस कर रही है छापेमारी

मामला पटना से जुड़ चुका था. इसलिए हावड़ा रेल पुलिस ने इस मामले में पटना रेल पुलिस से कांटैक्ट किया. आरपीएफ के अधिकारियों को भी इसकी जानकारी दी गई. मामला सेना का है. इसलिए पटना रेल पुलिस ने डीएसपी ईस्ट भगवान प्रसाद गुप्ता और डीएसपी हेडक्वार्टर हरिश शर्मा की एक स्पेशल टीम बना डाली. आरपीएफ के साथ मिलकर पटना साहिब से मोकामा के बीच ज्वाइंट आॅपरेशन चलाया जा रहा है.

सूचना मिलने के बाद से अब तक एक दर्जन जगहों पर टीम छापेमारी कर चुकी है. इस दरम्यान 10 साल से पुराने अपराधियों की तलाश और उनकी पहचान की जा रही है. आरपीएफ के सीनियर कमांडेंट चन्द्रमोहन मिश्रा और पटना रेल पुलिस के एएसपी अमृतेन्दु शेखर ठाकुर खुद पूरे मामले पर कड़ी नजर रख रहे हैं. इस ज्वाइंट आॅपरेशन की खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*