रेलवे को चूना लगाने के मामले में पटना में एक और अरेस्ट, अब रेड मिर्ची के अधिकारी की तलाश

railway recruitment boards , appointments , contractual , retired employees , shortage , railway staff , News , National News, रेलवे भारती बोर्ड
प्रतीकात्मक फोटो

लाइव सिटीज, पटना : रेलवे को आर्थिक नुकसान पहुंचाने के मामले में एक और शातिर को गिरफ्तार किया गया है. इसे आरपीएफ की टीम ने पकड़ा है. इसकी तलाश आरपीएफ की टीम को काफी दिनों से थी. जो अब पूरी हो गई है. पकड़े गए गए शातिर का नाम लल्लू कुमार है. लल्लू जेल में बंद शातिर अविनाश कुमार चौधरी का साथी है. इसे पकड़ने के लिए आरपीएफ की टीम ने न्यू जक्कनपुर के बंगाली टोला इलाके में छापेमारी की थी. इसी छापेमारी के दौरान वो पकड़ा गया.

आरपीएफ को इसकी तलाश पिछले दो महीने से थी. राजेंद्र नगर आरपीएफ पोस्ट के इंस्पेक्टर आरआर कश्यप को फरार चल रहे लल्लू के घर पर मौजूद होने की जानकारी मिली थी. जिसके बाद ही रविवार को आरपीएफ की टीम ने जक्कनपुर थाना की मदद से छापेमारी कर उसे धर दबोचा. अब इससे पूछताछ की जा रही है.

पकड़ा गया है ऐसा शातिर जो सॉफ्टवेयर के जरिए करता था रेलवे के रिजर्वेशन सिस्टम को क्रैक

पकड़ा गया ये शातिर और जेल में बंद अविनाश कुमार चौधरी रेड मिर्ची नाम के एक सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करता था. इस सॉफ्टवेयर की मदद से वो आईआरसीटीसी के वेबसाइट को ही कुछ समय के लिए डिस्टर्ब कर देता था. जिसके बाद मिनटों में ये शातिर इंटरनेट से तत्काल व नॉर्मल के 20 से 30 टिकट निकाल लिया करता था. इसकी तेजी की वजह से जरूरतमंद पैसेंजर्स को रेलवे टिकट नहीं मिल पाती थी. आपको बता दें कि 5 जुलाई को आरपीएफ की टीम ने अविनाश कुमार चौधरी के घर छापेमारी की थी. उस दौरान रेलवे के 22 तत्काल टिकट बरामद किए गए थे. रंगे हाथ अविनाश को गिरफ्तार किया था. उसके पास से एक लैपटॉप बरामद किया था. जिससे काफी सारे डिटेल मिले थे.

RAILWAY-FRAUD
लल्लू कुमार

चल रही है दूसरे स्टेट में छापेमारी

अब आरपीएफ के रडार पर सॉफ्टवेयर कंपनी रेड मिर्ची का बिहार प्रोजेक्ट हेड है. प्रोजेक्ट हेड की खोज भी जारी है. आरपीएफ की मानें तो प्रोजेक्ट हेड की तलाश में उनकी एक टीम बिहार के बाहर गई हुई है. दूसरे स्टेट में छापेमारी चल रही है. आरपीएफ के लिए प्रोजेक्ट हेड का पकड़ा जाना बेहद जरूरी है. इसके गिरफ्त में आने के बाद ही पता चल पाएगा कि और कितने लोग इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर रहे हैं. आरपीएफ के अनुसार रेलवे को चुना लगाने वाले शातिर रेड मिर्ची और नियो सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर रहे हैं. जिसे उनकी टीम हर हाल में खत्म करेगी.

About Amit Jaiswal 1004 Articles
पटना में क्राइम की हर खबरों पर होती है पैनी नजर

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*