पटना : पहले की छेड़छाड़ उत्पीड़न और अब दे रहे केस उठाने की धमकी

लाइव सिटीज, पटना : पटना सिटी अनुमंडल के अंतर्गत चौक थाना क्षेत्र में दबंगों द्वारा गरीब परिवार के मासूम लड़कियों पर हमला, उत्पीड़न तथा छेड़खानी एक मामले में अभियुक्त एवं परिजनों द्वारा केस उठाने के लिए अपहरण तथा जान से मारने की धमकी दी जा रही है. इस संबंध में चौक थाना कांड संख्या 232/19 कि शिकायतकर्ता एवं पीड़ित छात्रा जुली कुमारी ने बिहार पुलिस के डीजीपी, पटना प्रक्षेत्र के आईजी एवं डीआईजी तथा पटना सिटी के सहायक आरक्षी अधीक्षक को पत्र देकर सुरक्षा एवं न्याय की गुहार लगाई है.

घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार चौक थाना क्षेत्र के लल्लू बाबू का कुआं स्थित एक मकान में उमेश प्रसाद सिन्हा अपनी पत्नी और चार पुत्रियों के साथ रहते हैं. उक्त मकान मालिक कहीं विदेश में संभवत ऑस्ट्रेलिया रहते हैं. उमेश प्रसाद के पिता इंद्रदेव प्रसाद इस मकान में केयरटेकर के हैसियत से रहते आए हैं तथा अन्य किरायेदारों से किराया वसूल कर मकान मालिक तक पहुंचाने का भी काम इन्हीं लोग के जिम्मे रहा है. पहले इंद्रदेव प्रसाद खुद किराया वसूलते थे. बाद में यह काम उनके पुत्र उमेश प्रसाद करने लगे.

अब जब उमेश प्रसाद की आंखों की रोशनी भी कमजोर हो गई तो उनकी युवा पुत्री जुली कुमारी यह काम करने लगी. जुली कुमारी द्वारा चौक थाना में दिए गए शिकायती आवेदन के अनुसार जब वह किराया वसूलने के क्रम में उस मकान के पीछे रहने वाले कृष्ण कुमार सिन्हा उर्फ लंगट के घर में किराया मांगने के लिए पहुंची. तो उन लोगों ने न सिर्फ किराया देने से इनकार किया अपितु गाली-गलौज के साथ धमकी दी कि अब यह मकान उन लोगों का है. अतः किराया मांगने का अंजाम बुरा होगा. उनकी गाली-धमकी सुनकर जुली कुमारी अपने घर लौट गयी.

दर्ज प्राथमिकी के अनुसार कृष्ण कुमार सिन्हा उर्फ लंगट अपने अन्य छह पुत्रों के साथ रात्रि में करीब 1:30 बजे उमेश प्रसाद के घर में घुसकर उनकी चारों बेटियों के साथ मारपीट तथा उत्पीड़न किया. चारों पुत्रियों ने लंगट एवं उनके बेटों पर मारपीट तथा बदसलूकी का आरोप लगाया है. उन्होंने उमेश प्रसाद की चारों बेटी जूली, नीतू कुमारी, अर्चना राज एवं अभिलाषा राज के साथ अश्लील हरकतें की तथा जान से मारने की धमकी दी.

ये भी पढ़ें : पटना एसएसपी गरिमा मलिक की अपील- चोरी से बचने के लिए वाहनों में लगाए एक्स्ट्रा लॉक

ये भी पढ़ें : बिहार में 4 IPS अधिकारियों की ट्रांसफर-पोस्टिंग, पटना के सिटी एसपी सेंट्रल बदले

घटना से डरे सहमे उमेश प्रसाद की जेष्ठ पुत्री जुली कुमारी ने स्थानीय चौक थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई. प्राथमिकी के अनुसार जूली ने जबर्दस्ती का प्रयास, उत्पीड़न तथा मारपीट के लिए कृष्ण कुमार सिन्हा उर्फ लंगट तथा उनके 6 पुत्रों अमित कुमार, सुमित कुमार, अभिषेक कुमार, आशीष कुमार, कन्हैया कुमार तथा गप्पू को दर्ज प्राथमिकी में नामजद अभियुक्त बनाया है. चौक थाना ने तत्काल कार्रवाई करते हुए घटना में अभियुक्त बनाए गए अमित कुमार तथा अभिषेक कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था.

जुली कुमारी ने इस संबंध में बताया कि घटना के बाद वह खुद तथा उसका परिवार बुरी तरह से डरा-सहमा है. उन्होंने डर के मारे घर से बाहर निकलना भी छोड़ दिया है. जुली कुमारी ने बताया कि सिर्फ दो ही अभियुक्त गिरफ्तार हुए हैं. ऐसे में हमें डर है बाकी मिलकर कहीं हमारे साथ कोई बड़ी घटना को अंजाम न दे. पीड़ित ने बताया कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को ज्ञापन सौपे जाने के बावजूद भी स्थानीय प्रशासन अभियुक्तों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करने से परहेज कर रही है.

पटना से अजीत कुमार की रिपोर्ट 

About परमबीर सिंह 1524 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*