पटना जलजमाव : बुडको के तत्कालीन एमडी समेत 3 अधिकारी को किया गया सस्पेंड

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : पटना में जलजमाव को लेकर बिहार सरकार की काफी किरकिरी हुई थी. इसके लिए एक जांच कमिटी बनाई गई थी जिसने सरकार को पिछले दिनों रिपोर्ट सौंप दिया था. अब पटना को डुबाने वाले अधिकारियों पर सरकार ने बड़ी कार्रवाई कर दी है. पटना में जलजमाव पर गठित समिति की जांच रिपोर्ट के बाद अब लापरवाही बरतने वाले दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो गई है. बुडको के तत्कालीन एमडी आईएएस अधिकारी अमरेंद्र प्रताप सिंह को निलंबित कर दिया गया है.

वहीं बिहार प्रशासनिक सेवा के दो अधिकारियों को भी निलंबित किया गया है. जिन लोगों को निलंबित किया गया है उनमें बांकीपुर अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी वीरेंद्र कुमार तरुण और नूतन राजधानी अंचल पटना के कार्यपालक पदाधिकारी शैलेश कुमार शामिल हैं.



अमरेंद्र प्रताप सिंह को जवाबदेह माना गया है

उच्च स्तरीय जांच समिति द्वारा आलोचक जलजमाव की अवधि में 39 पम्प हाउस के लिए डीजल की समय पर आपूर्ति नहीं करने, ट्रांसफार्मरों की मरम्मत के व्यवस्था सुनिश्चित नहीं करने और जलजमाव की समस्या से निपटने के लिए प्रशिक्षित मानव बल की कमी को दूर नहीं करने के लिए अमरेंद्र प्रताप सिंह को जवाबदेह माना गया है. सिंह की प्रासंगिक कमियों को समिति द्वारा उनकी कमजोर नेतृत्व क्षमता के रूप में निरूपित किया गया है. जिसके कारण उन्हें सस्पेंड किया गया है.

पटना खूब हुआ था पानी-पानी

बता दें कि बीते साल पटना खूब पानी-पानी हुआ था. सितंबर 2019 में जब बारिश ने कहर बरपाना शुरु किया तो लोगों का जीना मुहाल हो गया था. हर घर तक पानी की पैठ थी और लोगों के राहत-बचाव सरकार के पसीने छूट गए थे. कई इलाकों में करीब महीने भर पानी जमा रहा था. इसको लेकर बिहार सरकार काफी गंभीर हुई थी और कई अधिकारियों पर कार्रवाई भी की गई थी.

आरा में एक बार फिर से कन्हैया के काफिले पर हमला, कई घायल