बांस घाट में कोरोना संक्रमित का शव जलाने के विरोध में लोगों ने निकाला जुलूस, मामले में प्राथमिकी दर्ज

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बुद्धा कॉलोनी थाना अंतर्गत बांस घाट शवदाह गृह में कोविड-19 संक्रमित मृत व्यक्ति का शव जलाने को लेकर स्थानीय लोगों के द्वारा विरोध प्रदर्शन कर जुलूस निकाला गया. इसके लिए ना तो सरकारी अनुमति ली गई एवं ना ही सुरक्षा मानकों के तहत सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया.

बांस घाट पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी द्वारा जुलूस निकालने संबंधी वैध कागजातों की मांग की गई तो उपलब्ध नहीं कराया गया. वर्तमान कोविड-19 के लॉक डाउन की स्थिति में लोगों की भीड़ इकट्ठा करना तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं रखना अवैध है.



इसके लिए  6 लोग आलोक राज, सुभाष यादव, अवधेश कुमार, मल्लू गोप, रामजी नेता, नवल किशोर गुप्ता सहित 15-20 अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध बुद्धा कॉलोनी थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है.

सभी लोगों के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 145, 188, 269, 270 तथा एपेडमिक डीजीज एक्ट 1897 के तहत कार्रवाई की गई है. बांस घाट के प्रतिनियुक्त वरीय दंडाधिकारी चंदन प्रसाद ने बुद्ध कॉलोनी थाना के पुलिस निरीक्षक सह थानाध्यक्ष को पत्र प्रेषित कर प्राथमिकी दर्ज कराई है. उनके साथ जिला नियंत्रण कक्ष के दो विशेष कार्यपालक दंडाधिकारी के रूप में सफी उल्लाह खां एवं अनिल कुमार सिंह भी मौजूद थे.