शहीद SHO आशीष मामले में गरमाई राजनीति, इस राजद नेत्री ने मांगा नीतीश कुमार का इस्तीफा

krishan-kumari-prasad
krishan-kumari-prasad

पटना। बिहार के खगड़िया जिले में देर रात हुई अपराधियों और पुलिस के मुठभेड़ में परसाहा थाना के SHO आशीष  के शहीद होने की खबर के बाद से ही बिहार में सियासी बयानबाजी तेज हो गई है। इस पूरे मामले को लेकर विपक्षी दल नीतीश कुमार और उनकी सरकार को घेरने में लगा है। वहीं नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी नीतीश कुमार पर ट्विट के जरिए हमला बोला है। इससे पहले बिहार लाइव सिटीज से बातचती के दौरान खगड़िया से  राजद नेता कृष्णा प्रसाद ने सीएम नीतीश से इस पूरे मामले में इ​स्तिफा मांगा है।

नीतीश कुमार से मांगा इस्तीफा

आज लाइव सिटीज के स्टूडियो में पहुंची राजद नेता कृष्णा कुमारी यादव ने एसएचओ आशीष कुमार की मौत यह बताती है की बिहार में अपराधियो का बोलबाला है, और अपने अपराधमुक्त शासन के वादे को पूरा नहीं कर पाने के लिए नीतीश कुमार को नैतिकता के अधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए।उन्होने कहा की आशीष बहुत सुलझे हुए व्य​क्ति थे। लोगो की समस्याओं को वे बड़ी ही संजीदगी से सुलझाने का काम करते थे। उनका शहीद होना हमारे लिए एक बड़ी दुखद घटना है और बिहार पुलिस ने एक जाबांज पुलिस  सिपाही को खोया है।

वहीं उन्होने नीतीश कुमार पर इस पूरे मामले को लेकर निशाना साधते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने 2005 में सुशासन के साथ विकास और कानून के राज की बात कही थी वो बिहार में आज कहीं नहीं दिखता है। उन्होने कहा कि ये बिहार में शुशासन का राज नहीं है बल्कि कुशासन और अपराधियो का राज  है। उन्होने कहा कि अभी वे पटना में है, खगड़िया लौटते ही वे शहीद आशीष के घर जाएंगी और उनके परिजनो से मिलेगी। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ इस दुख की घड़ी में है।

तेजस्वी ने भी बोला नीतीश पर हमला

आपको बता दे दे कि इससे पहले नीतीश कुमार पर आ​शीष की मौत को लेकर हमला बोलते हुए ट्विट करते हुए लिखा कि ‘अपराधियों ने बिहार में SHO को गोली मारी। नीतीश जी कहते है आल इज़ वेल। और यहाँ अपराधी सामान्य नागरिकों के बाद अब पुलिस की छाती में गोली ठोंक रहे है। सीएम की नाकामी से सूबे में AK-47 और सनसनीखेज़ अपराधों की ज़हरीली खेती हो रही है!पूरा सूबा ख़ौफ़ज़दा है!

बताते चले कि खगड़िया के परसाहा में तैनात दारोगा आशीष कुमार  अपराधियों से लोहा लेते हुए उनकी गोली का निशाना बना गए. आपको बता दें कि जब दिनेश मुनि गैंग के दियारा में छिपे होने की खबर मिलने पर देर रात एक बजे ट्रैक्टर से ही थाने से निकले थे. मुठभेड़ के दौरान गोली लगने के बावजूद वो डटे रहे और एक अपराधी को ढेर किया. मिशन सफल पूरा होता दिखाई दे रहा था तभी चार और गोलियां उनके सीने और पेट में समा गईं. बिहार पुलिस ने एक जांबाज दारोगा खो दिया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*