2015 में पीएम ने किया था 1 लाख 25 हजार करोड़ के पैकेज का ऐलान, जेपी नड्डा ने जनता को दिया पूरा हिसाब

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार विधानसभा चुनाव की सरगर्मियां काफी तेज हो गई है. कल दूसरे चरण का मतदान होना है. लेकिन तीसरे चरण के मतदान के लिए प्रचार-प्रसार जारी है. इसी कड़ी में बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता जेपी नड्डा सीतामढ़ी पहुंचे. यहां उन्होंने प्रत्याशी गायत्री देवी और एनडीए के पक्ष में लोगों से वोट की अपील की. साथ ही विरोधियों को जमकर धोया. इस दौरान मंच उनके साथ बीजेपी प्रभारी भूपेंद्र यादव सहित एनडीए के कई नेता मौजूद थे.

जेपी नड्डा ने कहा कि आज इतनी संख्या में लोग यहां आए हैं, इससे मालूम चलता है कि आपने गायत्री देवी को फिर से विधानसभा में भेजने का तय कर लिया है. उन्होंने कहा कि ये चुनाव सिर्फ गायत्री देवी का नहीं है. ये चुनाव बिहार के विकास की कहानी को आगे बढ़ाने का चुनाव है और इसमें हमसभी को अपनी भागीदारी निभानी होगी. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि इस विकास की गाड़ी को आगे बढ़ाने के लिए हमें फिर से नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाना है.



बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने बिहार के पूर्व सीएम सतीश मिश्रा के निधन पर दुख जताया. साथ ही उन्होंने कहा कि सतीश मिश्रा जी ने बिहार के लिए काफी अच्छा काम किया. वहीं उन्होंने कहा कि चुनाव के वक्त बिहार में जो भी आता है वे विकास की बात करता है. जो भी यहां आता है वो कहता है कि मैंने ये किया है और मैं ये करने वाला हूं. जेपी नड्डा ने कहा कि आज से 15 साल पहले जब चुनाव होता था तो चुनाव में विकास मुद्दा नहीं होता था. पहले लोग भैंस पर बैठकर घूमते थे. पहले तेल पिलावन और लाठी घुमावन था. उन्होंने कहा कि पहले ये इसलिए होता था कि पहले लालू प्रसाद यादव का जंगलराज था. लेकिन आज राजनीति की रणनीति और चित्र नरेंद्र मोदी ने बदल डाला है और अब विकास की कहानी लेकर लोगों के बीच आ रहे हैं.

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने तेजस्वी यादव पर बड़ा हमला बोला. उन्होंने कहा कि 10 लाख नौकरी देने की बात करते हैं, 25 लाख लोगों को पलायन करा दिया, इसका जवाब कौना देगा? उन्होंने आगे कहा कि पहले लालू जी कहते थे कि गमछी में बिहार से बाहर जाता है और सूट-टाई पहनकर घर लौटकर के आता था और उनको इसपर गर्व भी महसूस होता था. लेकिन अब आप विकास की बात करते हैं, वो इस लिए विकास की बात करते हैं क्योंकि नरेंद्र मोदी ने भारत की राजनीति की संस्कृति और उसका चित्र बदलकर रख दिया है.

नड्डा ने आगे कहा कि 2015 में मोदी जब आए थे को बिहार को 1 लाख 25 हजार करोड़ का पैकेज देकर गए थे. तब लोगों ने इसे जुमला करार दिया. उन्होंने कहा कि आज मैं 1 लाख 25 हजार करोड़ का हिसाब देने आया हूं. उन्होंने बताया कि 3 हजार 904 करोड़ रुपये किसानों के लिए खर्च किए गए, शिक्षा पर 1 हजार करोड़ रुपये खर्च हुआ, 1 हजार 550 करोड़ रुपये स्किल डेवलपमेंट पर खर्च किए गए, स्वास्थ्य पर 600 करोड़ रुपये खर्च हुए. इसमें दरभंगा मेडिकल कॉलेज हॉल्पिटल अलग से दिया गया है. उन्होंने कहा कि बिजली में 16.5 हजार करोड़ खर्च किया गाय तब जाकर बिजली आई है. सड़कों पर हमने 13 हजार 820 करोड़ खर्च किया. वहीं हाईवे पर 54 हजार करोड़ खर्च किया गया.

जेपी नड्डा ने कहा कि रेलवे पर भी 8 हजार 870 करोड़ रुपये खर्च किए गए. आप देख लीजिए अब रेल लाइन सीतामढ़ी को दरभंगा से जोड़ा जा रहा है. उन्होंने कहा कि दरभंगा एयरपोर्ट के लिए हमनें 2 हजार 700 करोड़ रुपये की लागत से एयरपोर्ट का निर्माण हो रहा है. डिजिटल बिहार के 450 करोड़ रुपये खर्च हुआ है और बरौनी की गैस लाइन के लिए 21 हजार करोड़ रुपये खर्च किए गए. वहीं टूरिज्म के लिए 600 करोड़ रुपये खर्च किए गए, जिसमें सीता माता का रामायण सर्किट भी शामिल है. हमने पूरा 1 लाख 25 हजार करोड़ रुपये का हिसाब दे दिया है. इसलिए आपसे अनुरोध करता हूं कि बिहार में विकास की सरकार को वोट दीजिए.