पिकअप वैन पर लदी थी प्याज की बोरी, नीचे बने तहखाने में मिली अंग्रेजी शराब की बड़ी खेप

लाइव सिटीज, सेट्रल डेस्क: बिहार में संपूर्ण शराबबंदी लागू है. लेकिन इस शराबबंदी के लागू होने के बाद से ही बिहार में शराब की तस्करी में काफी इजाफा हुआ है. बात अगर बिहार के सीमावर्ती जिलों की करें तो यहां के हर रोज शराब तस्करी के मामले सामने आ रहे हैं. वही पुलिस की पैनी नजर होने के बाद भी लगातार शराब बिहार के सीमावर्ती जिलों से होती हुई अन्य जिलों में पहुंच रही है. ताजा मामला बिहार के नावादा जिले से है. जहां शराब से लदी एक पिकअप वैन को पुलिस ने पकड़ा है.

प्याज की बोरी के नीचे तहखाने में छूपा रखी थी शराब

शराब की तस्करी के लिए बिहार के शराब तस्कर नए नए तरीके के आइडियाज भी डेवलप कर रहे हैं. लेकिन पुलिस की पैनी नजर से ये बच नहीं पा रहे हैं. नाबादा से आज पकड़ी गई शराब की खेप का मामला भी चौकानेवाला है. इस खेप को पकड़ने के बाद पुलिस भी दांतो तले उंगली चबाने को मजबूर है. पुलिस ने जिस पिकअप वैन को पकड़ा है उसमें शराब की तस्करी के लिए एक तहखाना बना हुआ था.

जानकारी के अनुसार मामला बिहार के सीमावर्ती जिले नवादा के पटना-रांची एनएच 31 पर बरेव गांव के नजदीक का है. यहां उत्पाद विभाग ने एक पिकअप वाहन से भारी मात्रा में अंग्रेजी शराब की बड़ी खेप बरामद की है. मिली जानकारी के अनुसार पिकअप वैन में पहले से एक तहखाना बनाकर उसमें 45 कार्टन अंग्रेजी शराब छुपाई गई थी. इस तहखाने के उपर प्याज की कई बोरियां तस्करों ने पुलिस को चकमा देने ​के लिए रखी थी.

पुलिस को चकमा देकर निकल गई एक गाड़ी

वाहन जांच के दौरान उत्पाद विभाग की टीम ने दो लोगों को भी गिरफ्तार किया है. वही इस दौरान दूसरी गाड़ी रफ्तार का फायदा उठाते हुए उत्पाद विभाग के कर्मियों को चकमा देते हुए आगे निकलती चली गई. काफी दूर तक वाहन का पीछा करते हुए उस कार को नवादा सद्भावना चौक के समीप रोकने का प्रयास किया गया. चकमा देने के कारण उत्पाद विभाग की गाड़ी सड़क किनारे अनियंत्रित होकर ब्रेकर पर जम्प कर गई जिसमें उत्पाद निरीक्षक विनोद कुमार खलीफा, एक सिपाही और वाहन चालक भी घायल हो गया.

उत्पाद निरीक्षक विनोद कुमार खलीफा ने गिरफतार आरोपियों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त से पूछताछ के दौरान जानकारी मिली है कि वह झारखंड के गिरिडीह से शराब लेकर शेखपुरा की ओर जा रहे थे. फिलहाल दोनों गिरफ्तार आरोपियों को जेल भेज दिया गया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*