लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में सियासी गर्माहट अब और तेज होने लगी है. बीते दिनों दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 को लेकर JDU और बीजेपी गठबंधन के बाद लगातार सियासी बवाल मचा हुआ है. जेडीयू नेता पवन वर्मा ने दिल्ली में गठबंधन को लेकर सीएम नीतीश से जवाब मांगा था. उन्होंने चिट्ठी लिखकर नीतीश कुमार से पार्टी का स्टैंड क्लियर करने की बात कही थी.

बीजेपी के साथ दिल्ली चुनावों को लेकर किए गए गठबंधन और CAA का विरोध करना अब पवन वर्मा को भारी पड़ता दिख रहा है. जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने उन पर तीखा प्रहार करते हुए कहा है कि वर्मा का पार्टी को खड़ा करने में कोई योगदान नहीं है.

पार्टी के लिए पवन वर्मा ने कुछ नहीं किया

मीडिया से बातचीत में वशिष्ठ नारायण ने कहा कि पार्टी के लिए पवन वर्मा ने ऐसा कोई भी काम नहीं किया जिसकी चर्चा भी की जा सके. उन्होंने कहा कि ऐसी बयानबाजी सिर्फ मीडिया में बने रहने का एक तरीका है. इस दौरान वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि जेडीयू और बीजेपी का संबंध काफी पुराना है और बिहार में भी काफी सालों से हम मिलकर सरकार चला रहे हैं. ऐसे में बिहार से बाहर यदि हमारे संबंध मजबूत हो रहे हैं तो इसमें हर्ज क्या है.

कार्रवाई की हो सकती है बात

पवन वर्मा के बयान को लेकर वशिष्ठ नारायण ने कहा कि हो सकता है कि वे किसी अन्य पार्टी के संपर्क में हों जिसके चलते ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं. लेकिन पार्टी अब इस तरह के बयान बर्दाश्त नहीं करेगी. उन्होंने कड़े शब्दों में कहा कि वे अब पार्टी बैठक में इस मुद्दे को उठाएंगे और ऐसे लोगों पर कार्रवाई की बात भी हो सकती है. साथ ही उन्होंने कहा कि पवन जैसे नेताओं को पार्टी अब तवज्जो भी नहीं देती है.

पार्टी का स्टैंड क्लियर करें सीएम

जेडीयू नेता पवन वर्मा ने सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखकर कहा था कि वे अपना स्टैंड क्लियर करें. इस बात की जानकारी पवन वर्मा ने ट्वीट कर दी थी. पवन वर्मा ने कहा था कि जेडीयू और बीजेपी के संविधान में फर्क है. दोनों की अलग-अलग आइडियोलॉजी है. बिहार में गठबंधन था लेकिन अब दिल्ली में गठबंधन की क्या वजह है, उन्हें बताना चाहिए. अपने पत्र में उन्होंने साफ कहा है कि ये पहली बार है जब बिहार के बाहर जेडीयू, बीजेपी के साथ गठबंधन कर रही है. उन्होंने पत्र में लिखा है कि कई मौकों पर सीएम ने बीजेपी-आरएसएस को लेकर आपत्ति भी जताई है. 2015 में वो भारत को आरएसएस मुक्त बनाने की भी बात कर रहे थे.

जेडीयू नेता पवन वर्मा ने सीएम नीतीश को लिखी चिट्ठी, बोले- क्लियर कीजिए पार्टी का स्टैंड