1 मार्च से तीसरे चरण के टीकाकरण के लिए प्री रजिस्ट्रेशन शुरू, 1600 केंद्रों में टीकाकरण का है लक्ष्य, निजी अस्पताल में भी लगवा सकेंगे लाभार्थी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : शनिवार को स्वास्थ्य विभाग के अपर सचिव सह राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि 1 मार्च से बिहार में तीसरे चरण के कोरोना टीकाकरण के लिए निबंधन होगा. वहीं, दो मार्च से टीकाकरण शुरू किया जायेगा. एक मार्च को निबंधन कराने के 24 घंटे बाद ही टीकाकरण किया जायेगा. 1 मार्च से प्री-रजिस्ट्रेशन शुरू करने को लेकर कोविड-2.0 पोर्टल खुलेगा. सरकारी हो या निजी अस्पताल, टीका लेने के लिए निबंधन कराना ही होगा. उन्होंने बताया कि तीसरे चरण  के टीकाकरण अभियान के तहत 60 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति और 45 से 59 वर्ष के वैसे नागरिकों का टीकाकरण करना है, जो किसी गंभीर रोग से ग्रसित हैं.

सशुल्क लगवा सकते हैं निजी हॉस्पिटल में टीका

वैक्सीन को लेकर कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने बताया कि पीएचसी स्तर तक के सरकारी हॉस्पिटल में वैक्सीन फ्री होगा. जबकि प्राइवेट में इसकी कीमत 250 रुपये होगी. जिसमें 100 रुपये प्रशासनिक शुल्क होगा. वहीं, 150 रुपये वैक्सीन की कीमत होगी. निजी अस्पताल सरकार को 150 रुपये भुगतान कर टीका ले सकते हैं. उन्होंने बताया कि लाभार्थी प्राइवेट हॉस्पिटल में टीका लगवाना चाहते हैं तो सशुल्क टीकाकरण की व्यवस्था की गयी है.

1 मार्च से 700 केंद्रों पर शुरू होगा टीकाकरण अभियान

तीसरे चरण में अभियान के तहत 1600 केंद्रों पर टीका देने की व्यवस्था है. राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने कहा कि ये संख्या धीरे-धीरे बढ़ायी जायेगी. 1 मार्च से जहां 700 केंद्रों पर टीकाकरण शुरू होगा. वहीं, 15 मार्च से यह संख्या बढ़ाकर 1000 केंद्र कर दी जायेगी. 16 से 31 मार्च तक 1200 केंद्रों, 01 से 15 अप्रैल तक 1500 केंद्रों व 16 से 30 अप्रैल तक यह बढ़ाकर 1600 केंद्रों पर शुरू कर दिया जायेगा.

टीका लेने के लिए आधार कार्ड दिखाना जरूरी होगा

कार्यपालक निदेशक ने बताया कि टीका लेने के लिए आधार कार्ड दिखाना जरूरी होगा. विशेष परिस्थिति में ही किसी अन्य पहचान पत्र की अनुमति मिलेगी. वहीं, 1 टीकाकरण केंद्र पर 100 व्यक्तियों को टीका लगाया जायेगा. टीकाकरण केंद्र पर 3 कमरे की सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी. पहले कमरे में टीका कराने वाले का रजिस्ट्रेशन, जांच व इंतजार करने की व्यवस्था की जायेगी. दूसरे कमरे में टीका दिया जायेगा. तीसरे कमरे में आधे घंटे तक टीकाकृत व्यक्तियों की निगरानी की जायेगी. उन्होंने कहा कि कोरोना टीकाकरण को लेकर पूर्व के सभी प्रोटोकॉल पूर्ववत ही लागू रहेंगे.