लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पूसा विवि के दीक्षांत समारोह में शामिल होने के लिए समस्तीपुर पहुंचे हैं. वहां उन्होंने दीक्षांत समारोह में कई छात्रों को गोल्ड मेडल दिया. राष्ट्रपति ने डॉ राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विवि के सभी और शिक्षकों को बधाई दी. समारोह में महामहिम ने विवि के चांसलर को बधाई देते हुए कहा बिहार के लिए मेरे ह्रदय में विशेष स्थान है. वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राष्ट्रपति के आगमन पर खुशी जताई.

राष्ट्रपति कोविंद ने दीक्षांत समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह की खूब तारीफ़ की. उन्होंने कहा कि भारत के किसानों को डिजिटल सिविधा से जोड़कर कर कृषि क्षेत्र में बेहतर कार्य हो रहा है. कृषि तकनीक में सुधार से अनाज उत्पादन में बढ़ोतरी हुई है. इस वजह से आज के युवा भी कृषि कार्य से जुड़ रहे हैं. जिसके लिए मैं कृषि मंत्री मंत्री राधामोहन सिंह को बधाई देता हूं. उन्होंने आगे कहा कि आज पूरे देश को बेटियों पर नाज है.

आगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, ‘दीपावली और छठ के बाद ये कार्यक्रम खास है. छठ पूजा अब सिर्फ बिहार तक सीमित नहीं है. छठ पूजा ग्लोबल होता जा रहा है. मेरे हृदय में बिहार के लिए विशेष स्थान है.’ वहीं राष्ट्रपति ने विवि के चांसलर को कई सुझाव भी दिए.

ईख अनुसंधान संस्थान केंद्र परिसर में भव्य पंडाल बनाया गया, जहां राष्ट्रपति के अलावा राज्यपाल लालजी टंडन, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह एवं केंद्रीय कृषि विवि के कुलाधिपति डॉक्टर प्रफुल्ल चंद्र मिश्रा मौजूद रहें.

पूसा स्थित डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के बाद राजधानी पटना के ज्ञान भवन में आयोजित एनआईटी के दीक्षांत समारोह में शिरकत करेंगे. दोनों जगह जिला प्रशासन द्वारा कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है. बुधवार देर शाम तक अधिकारियों ने सुरक्षा संबंधी तैयारियों को अंतिम रूप दिया और रिहर्सल किया. एसपीजी ने कार्यक्रम स्थल व आसपास के इलाकों को कब्जे में ले लिया है.

समस्तीपुर से लौटने के बाद राष्ट्रपति करीब चार बजे राजधानी में ज्ञान भवन में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एनआईटी) केआठवें दीक्षांत समारोह में 10 छात्र-छात्राओं को गोल्ड मेडल प्रदान करेंगे. राष्ट्रपति एक घंटे तक ज्ञान भवन में रहेंगे. दोपहर 3:45 बजे वे राजभवन से ज्ञान भवन के लिए प्रस्थान करेंगे और शाम पांच बजे ज्ञान भवन से वापस एयरपोर्ट पहुंचेंगे. इसके बाद दिल्ली लौट जाएंगे.