बुद्ध पूर्णिमा एक्सप्रेस में हुई लूट, रेल एसपी का क्विक एक्शन, सस्पेंड हुए थानेदार

पटना (अमित जायसवाल/पंकज) : एक बार फिर अपराधियों के निशाने पर ट्रेन पैसेंजर्स रहे. जिन्हें चलती ट्रेन में हथियार के बल पर लूटा गया. लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए अपराधियों ने राजगीर से वारणसी जा रही बुद्ध पूर्णिमा एक्सप्रेस में अंजाम दिया. लूट—पाट के दौरान एक पैसेंजर पर चाकू से वार भी किया गया. पीठ पर चाकू लगने से पैसेंजर मो. एजाज आलम घायल हो गया.

दरअसल, बुद्ध पूर्णिमा एक्सप्रेस रविवार की देर रात अपने निर्धारित समय पर राजगीर से चली थी. देर रात करीब 1 बजकर 15 मिनट पर हरनौत स्टेशन के पास चेन पुलिंग कर ट्रेन को रोक दिया गया. फिर करीब 8—10 लड़के दौड़ते हुए और एक जनरल कोच में चढ़ गए. इसके बाद ट्रेन खुल गई. फिर करनौती हॉल्ट के पास जैसे ही ट्रेन पहुंची, वैसे ही दोबारा चेन पुलिंग कर ट्रेन को रोक दिया गया. फिर उन्हीं लड़कों ने जनरल कोच के अंदर लूटपाट करनी शुरू कर दी. इन अपराधियों की उम्र करीब 15 से 20 साल के बीच की थी. सभी हथियार से लैश थे.



घटनास्थल पर जांच करते रेल एसपी

अपरा​धियों ने पैसेंजर्स से उनके रुपए, मोबाइल, एटीएम कार्ड और कीमती सामान लूटे. नालंदा जिले के मो. एजाज आलम डेहरी-ओन-सोन जा रहे थे. इनके भी तीन हजार रुपए और मोबाइल को लूट लिया गया. जब इन्होंने अपराधियों से दो सौ रुपए मांगे तो इनपर चाकू से वार कर दिया. पैसेंजर्स को लूटने के बाद अपराधी आराम से ट्रेन से उतरे और फरार हो गए. ट्रेन के बख्तियारपुर पहुंचने पर मो. एजाज, रजनीश कुमार, आर्यन कुमार, उपेन्द्र कुमार और गणेश कुमार ने रेल पुलिस से शिकायत की. इनके फर्द बयान पर मामला दर्ज किया गया.

रेल एसपी ने खुद की जांच और फिर किया सस्पेंड

ट्रेन में पैसेंजर्स के साथ लूट का मामला सामने आने के बाद रेल पुलिस अधिकारियों के बीच खलबली मच गई. मामले की जांच करने खुद रेल एसपी जितेन्द्र मिश्रा वारदात स्थल पर पहुंच गए. जांच के दौरान पता चला कि बिहार शरीफ रेल थाने के थानेदार ज्योति प्रकाश गायब हैं. वो रात में थाने पर नहीं थे. बगैर किसी सूचना के ही वो ड्यूटी से नदारद थे. वहीं लूटपाट के दौरान ट्रेन में रेल पुलिस के एस्कॉर्ट टीम के 4 जवान मौजूद थे. पैसेंजर्स लूटते रहे, लेकिन इन लोगों ने कोई कार्रवाई नहीं की. रेल एसपी ने पूरे मामले को काफी गंभीरता से लिया. बिहार शरीफ के रेल थानेदार और एस्कॉर्ट के 4 जवानों को तुरंत सस्पेंड कर दिया.